पुष्कर में लोक देवता वीर तेजाजी के थान पर उमडे श्रद्धालू

अजमेर/पुष्कर। वचनों पर प्राण न्यौछावर करने वाले वीर तेजाजी महाराज के निर्वाण दिवस भाद्रपद शुक्ल दशमी को पुष्कर सहित आस-पास के गांवों में तेजाजी के परंपरागत मेलों का आयोजन हुआ। मान्यता है की तेजाजी महाराज की कृपा से सांप का काटा व्यक्ति भी ठीक हो जाता है।

इसी के चलते अल सुबह से ही कस्बे के केशव नगर स्थित प्राचीन तेजाजी महाराज, बड़ी बस्ती स्थित मालनियो के चौक, छोटी बस्ती स्थित भीष्म दासजी के अखाड़े के पास बने मंदिरों में स्थानीय लोगों की लम्बी कतारें लगी रही। श्रद्धालू लोक देवता तेजाजी महाराज को कच्चे दूध, श्रीफल सहित चूरमे का भोग लगा कर परिवार में खुशहाली की कामना कर रहे थे।

इससे पूर्व रात्रि में केशव नगर और छोटी बस्ती स्थित प्राचीन तेजाजी महाराज के थान पर भव्य भजन संध्या का आयोजन किया गया जिसमें विभिन्न गायक कलाकारों ने तेजाजी महाराज के भजनों की शानदार प्रस्तुतियां। भजन संध्या में श्रोता भाव -विभोर हो उठे और उन्होंने नाच – गाकर अपनी श्रद्धा प्रकट की। इस दौरान नई धाम पर सांखला की कुल देवी जाखन माता और रामदेव जी की भक्ति से सरोबार भजन कीर्तन का दौर भी चला।

रात्रि में सभी मंदिरो में आकर्षक सजावट की गई और तेजाजी महाराज की ज्योत के साथ विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम किए गए। केशव नगर में मित्र मंडल की और से आयोजित कार्यक्रम में पालिका उपाध्यक्ष मुकेश कुमावत, पार्षद मंजू डोळ्या सहित कई गणमान्य नागरिकों ने देर रात तक लोक देवता तेजाजी के भजनों का श्रवण किया।