धरातल के मुद्दों पर चर्चा करना भाजपा को बुरा लगता है : सचिन पायलट

जयपुर। राजस्थान के उपमुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा है कि आसमान छूती मंहगाई और बढ़ती बेरोजगारी जैसे धरातल के मुद्दों पर चर्चा करना भाजपा को बुरा लगता है।

पायलट ने लोकसभा क्षेत्र करौली-धौलपुर, भरतपुर एवं जयपुर देहात में कांग्रेस प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित जनसभाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि करौली की जनता ने विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को बहुमत देकर सरकार बनाई है उसी प्रकार कांग्रेस प्रत्याशी को जिताकर देश में नया प्रधानमंत्री बनाना है। उन्होंने कहा कि जो भाजपा विरोधी हैं, उसे देश विरोधी साबित किया जा रहा है। ऐसा वातावरण बना दिया है कि जो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ है, वह देश के खिलाफ है।

पायलट ने कहा कि उन्होंने कहा कि संवैधानिक संस्थाओं की धज्जियां उड़ाई जा रही है। लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, अरूण शौरी, यशवन्त सिन्हा, शत्रुध्न सिन्हा जिन्होंने बरसों तक भाजपा की सेवा की, उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। जो लोग अपनों के नहीं हुए, आप लोगों के कैसे हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि बसपा ने कांग्रेस के वोट काटने के लिए भाजपा कार्यकर्ता को टिकट दिया है लेकिन मतदाता समझदार है। आपका बसपा को दिया एक मत भाजपा को फायदा और कांग्रेस को नुकसान पहुंचाएगा।

इन सभाओं को सम्बोधित करते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि धौलपुर से सरमथुरा, गंगापुर वाया करौली रेल लाईन के सम्बन्ध में भाजपा के सांसद ने पत्र में लिखकर दिया था कि करौली में रेल लाईन की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि गलती करेगा वह भुगतेगा, हर गलती कीमत मांगती है। गहलोत ने कहा कि चुनाव जीतने के लिए भाजपा द्वारा सेना का सहारा लिया जा रहा है और भारतीय सेना को मोदी की सेना बताया जा रहा है। उन्होंने कहा कि देश में भाजपा ने नफरत और घृणा का माहौल पैदा कर दिया है।

उन्होंने कहा कि देश में कांग्रेस का प्रधानमंत्री बना तो धौलपुर से सरमथुरा, गंगापुर वाया करौली रेल लाईन का कार्य कराया जाएगा।