लोकेश राहुल, विजय शंकर और दिनेश कार्तिक को विश्वकप टीम में जगह, रिषभ पंत चूके

Lokesh , Vijay Shankar and Karthik, in place of World Cup team, Rishabh Pant missed
Lokesh , Vijay Shankar and Karthik, in place of World Cup team, Rishabh Pant missed

मुंबई । भारतीय चयनकर्ताओं ने 30 मई से इंग्लैंड एंड वेल्स में शुरू होने वाले आईसीसी एकदिवसीय विश्वकप के लिये 15 सदस्यीय भारतीय टीम की सोमवार को घोषणा कर दी जिसमें ओपनर लोकेश राहुल, ऑलराउंडर विजय शंकर और विकेटकीपर बल्लेबाज़ दिनेश कार्तिक को जगह मिली है जबकि प्रबल दावेदार माने जा रहे अन्य विकेटकीपर बल्लेबाज़ रिषभ पंत विश्वकप टीम में जगह बनाने से चूक गये।

विराट कोहली विश्वकप टीम में कप्तानी संभालेंगे जबकि रोहित शर्मा को टीम का उपकप्तान बनाया गया है। टीम में जगह बनाने के लिये कई दावेदारों की होड़ में राहुल, विजय और कार्तिक भाग्यशाली रहे जबकि कुछ समय पहले तक विश्वकप टीम के लिये सुनिश्चित माने जा रहे युवा पंत पर चयनकर्ताओं ने दांव नहीं लगाया।

लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा ने भी विश्वकप टीम में जगह बना ली। पंत के अलावा अंबाटी रायुडू भी विश्वकप टीम में जगह बनाने से चूक गये। एमएसके प्रसाद की अगुवाई वाली चयन पैनल ने बीसीसीआई के मुख्यालय में आज टीम का चयन किया।

चयन पैनल और कप्तान विराट कोहली ने मुंबई में बीसीसीआई मुख्यालय में बैठक की जिसके बाद दोपहर में 15 सदस्यीय विश्वकप टीम की घोषणा की गयी। चयनकर्ता प्रमुख प्रसाद ने हाल ही में कहा था कि 20 खिलाड़ियों का पूल चुन लिया गया है जिनमें से 15 सदस्यीय टीम चुनी जाएगी। इस चयन में आईपीएल के प्रदर्शन का कोई हाथ नहीं रहेगा। लेकिन संभवत: ऐसा लगता है कि पंत ने आईपीएल के कई मैचों में जिस तरह अपने विकेट गंवाये वह उनके टीम से बाहर होने का सबसे बड़ा कारण रहा।

मध्यक्रम के बल्लेबाज़ अंबाटी रायुडू दुर्भाग्यशाली रहे कि आईपीएल में लगातार अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद वह चौथे स्थान के लिये टीम में अपनी जगह नहीं बना पाये। यह दिलचस्प है कि ‘कॉफी विद करण’ शो में महिलाओं पर विवादित टिप्पणी करने वाले ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या और बल्लेबाज़ लोकेश राहुल को टीम में जगह मिली है, हालांकि दोनों का मामला अभी बीसीसीआई के लोकपाल के सामने लंबित पड़ा है और इस मामले में लोकपाल का फैसला आना बाकी है।

राहुल को हाल के लगातार अच्छे प्रदर्शन का फायदा मिला और वह टीम में वैकल्पिक ओपनर या चौथे नंबर के बल्लेबाज़ के रूप में जगह बनाने में कामयाब रहे। विश्वकप टीम में सबसे बड़ा चेहरा ऑलराउंडर विजय शंकर का है जिन्होंने अब तक भारत के लिये अब तक 9 वनडे और 9 ट्वंटी 20 मैच खेले हैं। 28 साल के विजय ने इस साल 18 जनवरी को अपना वनडे पदार्पण किया था और लगभग तीन महीने बाद ही वह विश्वकप टीम में जगह बना गये।

लेफ्ट आर्म स्पिनर जडेजा के लिये भी पिछले कुछ महीने अच्छे रहे और वह तीसरे स्पिनर के रूप में भारतीय टीम में शामिल हो गये। लंबे समय तक सीमित ओवरों की टीम से नज़रअंदाज़ रहे जडेजा को पिछले साल इंग्लैंड दौरे में आखिरी टेस्ट में मौका मिला और इस मौके को उन्होंने दोनों हाथों से भुनाया और लगातार अच्छा प्रदर्शन करते हुये इंग्लैंड का टिकट पा लिया।

वर्ष 2015 में आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड की संयुक्त मेजबानी में हुये पिछले विश्वकप में खेलने वाली टीम के सात खिलाड़ी इस विश्वकप की टीम में जगह बनाने में कामयाब रहे। पिछले विश्वकप में कप्तानी करने वाले धोनी अब अपना चौथा विश्वकप खेलने उतरेंगे।

पिछले विश्वकप के सदस्य विराट, शिखर धवन, राेहित शर्मा, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी और रवींद्र जडेजा ने भी टीम में जगह बनाई है। विश्वकप टीम के नये खिलाड़ियों में राहुल, विजय, केदार जाधव, दिनेश कार्तिक, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, जसप्रीत बुमराह और हार्दिक पांड्या शामिल है।

विश्वकप टीम इस प्रकार है-विराट कोहली कप्तान, रोहित उपकप्तान, शिखर धवन, लोकेश राहुल, विजय शंकर, महेंद्र सिंह धोनी(विकेटकीपर), केदार जाधव, दिनेश कार्तिक, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पांड्या, रवींद्र जडेजा, मोहम्मद शमी।