वीडियो कॉल रिकार्ड कर ब्‍लैकमेलिंग से बचाव के लिए एडवाइजरी जारी

भोपाल। वीडियो कॉल रिकार्ड कर ब्लैकमेलिंग से बचाव को लेकर राज्य सायबर द्वारा एडवाइजरी जारी की गई है।

राज्य सायबर के अतिरिक्‍त पुलिस महानिदेशक योगेश चौधरी ने एडवाइजरी जारी करते हुए कहा कि फेसबुक या अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से मित्रता कर पुरुषों को व्हाट्सएप पर वीडियो कॉल करके उसका स्क्रीन रिकार्ड कर अपने जाल में फंसा कर ब्लैकमेल करना और फिर पैसे एंठने की वारदात आजकल आम हो गई है।

उनके अनुसार सायबर अपराधी फेसबुक, इंस्टाग्राम एवं अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म के माध्यम से स्वयं को महिला दर्शाते हुए अपनी प्रोफाइल पर महिला की फोटो लगाकर पुरुषों को मित्रता सूची में जोड़ लेते हैं।

उन्होंने बताया कि कभी भी अनजान व्यक्तियों से सोशल मीडिया पर मित्रता न करें। सदैव अपने परिचितों या पहचानने वालों की ही मित्रता कि रिक्यास्ट स्वीकार करें। मित्रता सूची में जुड़ने के बाद भी अगर किसी मित्र की प्रतिक्रिया संदिग्ध लगती है तो तुरंत उसे अपनी प्रोफाईल से अनफ्रेंड कर दें।

अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल की सभी प्रकार की सेटिंग्स को मजबूत करें ताकी हर कोई आपकी प्रोफाइल में जाकर आपकी जानकारियां, मित्र सूची व पोस्ट न देख सकें। किसी को अपना मोबाइल नम्बर न दें जब तक कि आपको उसकी पहचान की पुष्टी न हो जाए और व्हाट्सएप आदि पर किसी भी अन्जान व्यक्ति से बात या वीडियो कॉलिंग न करें।

उन्होंने कहा कि यदि किसी भी प्रकार से आप इस तरह के फ्रॉड में फंस भी जाते हैं तो घबराए नहीं तुरंत पुलिस थाने जाकर या ऑनलाइन या टोल फ्री नम्बर 155260 पर शिकायत दर्ज करें तथा सबसे पहले अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल से उस संदिग्ध व्यक्ति को हटा दें व कुछ दिनों के लिए अपनी प्रोफाइल को भी डीएक्टीवेट कर दें, ताकि बनाई गई वीडियो आपके किसी परिचित मित्र या रिश्तेदार को न भेज सके।