अयोध्या में आमरण अनशन करने वाले महंत को पुलिस ने जबरन उठाया

Mahant who has been on a fast-unto-death in Ayodhya was forcibly picked by the police
Mahant who has been on a fast-unto-death in Ayodhya was forcibly picked by the police

अयोध्या। भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग को लेकर आमरण अनशन पर बैठे तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास को पुलिस ने जबरन उठा लिया ।

मंगलवार देर रात जिला प्रशासन के निर्देश पर उन्हें अनशन स्थल से जबरन उठा लिया गया । पिछले आठ दिन से लगातार बिना कुछ खाए पिये आमरण अनशन पर बैठे महंत परमहंस दास का स्वास्थ्य लगातार बिगड़ रहा था। इस दौरान उनका वजन नौ किलो कम हो गया था। महंत परमहंस दास को अनशन स्थल से उठाए जाने की चर्चा बीते दो दिनों से चल रही थी। इसी क्रम में मंगलवार की देर रात करीब बारह बजे अचानक एक एंबुलेंस अनशन स्थल पर पहुंची और सादी वर्दी में आये पुलिस के अधिकारियों उन्हें एंबुलेंस में बैठने को कहा । जब वह साथ जाने को तैयार नहीं हुये तो उन्हें जबरन एंबुलेंस में बैठा लिया गया ।

आमरण अनशन के कारण उनका स्वास्थ्य खराब पर प्रशासन के निर्देश पर यह कार्रवाई हुई । अनशन स्थल पर मौजूद उनके समर्थकों ने जबरिया महंत को उठाए जाने पर कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए जिला प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। महंत परमहंस दास की शिष्या अर्चना ने आरोप लगाया कि स्वामी जी भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने की मांग कर रहे थे।

लगातार देश में अल्पसंख्यकों द्वारा बहुसंख्यकों के ऊपर हो रहे हमलों को देखते हुए यह जरूरी था कि अब भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित कर दिया जाए लेकिन जिला प्रशासन ने जबरन उन्हें अनशन स्थल से उठा दिया, जबकि उनकी मांगों के संबंध में केन्द्र और राज्य सरकार ने अभी तक कोई विचार नहीं किया है।