महाराष्ट्र : रत्नागिरी में बस खाई में गिरी, 32 लोगों की मौत

Maharashtra : 32 people killed as bus falls into ditch in ratnagiri
Maharashtra : 32 people killed as bus falls into ditch in ratnagiri

मुंबई। महाराष्ट्र के रत्नागिरी जिले के दापोली स्थित डॉक्टर बालासाहब सावंत कोंकण कृषि विद्यापीठ के 32 कर्मचारियों की अाज रायगढ़ जिले के अंबेनली घाट में बस के गिर जाने से मृत्यु हो गई।

इस दुर्घटना में विद्यापीठ के सहायक अधीक्षक प्रकाश सांवत बाल-बाल बच गए। उन्होंने ही फोन करके विद्यापीठ और पुलिस को दुर्घटना की सूचना दी थी। वह बाद में दुर्घटना स्थल से ऊंचाई पर आए।

सावंत ने बताया कि रास्ते में एक जगह काफी मिट्टी थी जिससे बस फिसल गई और चालक के नियंत्रण के बाहर होकर बस गहरी खाई में गिर गई।

उन्होंने कहा कि सप्ताहांत में शनिवार और रविवार की छुट्टी होने और प्रति वर्ष विद्यापीठ में धान की फसल लगाने के बाद कर्मचारी पिकनिक पर जाते हैं, वे लोग सुबह साढ़े छह बजे पिकनिक मनाने महाबलेश्वर के लिए निकले थे और पूर्वाह्न साढ़े 10 बजे बस गहरी खाई में गिर गई।

रायगढ़ जिला पुलिस नियंत्रण कक्ष के अधिकारी पीडी पाटिल ने बताया कि बस लगभग 300 फुट नीचे गिर गई थी।

उन्होंने बताया कि बचाव कार्य जारी है और अब तक 29 शवों को बाहर निकाला जा चुका है। पुणे से एनडीआरएफ बचाव दल घटना स्थल पर पहुंच गया है। ग्रामीण भी उनकी मदद कर रहे हैं।

घाट के इलाके में बारिश के कारण बचाव कार्य में दिक्कतें आ रही हैं। वहां घने बादल होने के कारण रोशनी कम है।

कुछ मृतकों की शिनाख्त हो चुकी है जिनके नाम राजेन्द्र बांडबे, हेमंत सुर्वे, सुनील कदम, रोशन ताबीब, संदीप सुर्वे, प्रमोद जाधव, विनायक सावंत, गोरखानाथ टोड, दत्ताराम धागे, रत्नाकर पागड़े, प्रमोद शिगवान, संतोष जलगांवकर, शिवदास अग्रे, सचिन घिमणकर, संजय सावंत, राजेंद्र रिस्बड, सुनील सतले, रमेश जाधव, अनिल सावके, संदीप भोसले, विक्रांत शिंदे, सचिन गुजार, पंकज कदम, नीलेश ताम्बे, संतोष जगड़े, राजाराम गावडे, राजेश सावंत, सचिन ज़गड़े, रविकिरन साल्वी और सुषय बाल हैं।

विद्यापीठ के एक कर्मचारी प्रवीण रणदिवे ने बताया कि वह भी पिकनिक जाने वाले थे लेकिन अंतिम समय में उनकी पत्नी ने कहा कि पिकनिक मत जाओ, इसलिए वह पिकनिक दल में शामिल नहीं हुए और पत्नी के कारण बच गए। महाराष्ट्र के कृषि राज्य मंत्री सदाभाऊ खोत सांगली से घटना स्थल के लिए रवाना हो गए हैं।