महाराष्ट्र बंद : मुंबई में बेस्ट की नौ बसों को पहुंचा नुकसान

मुंबई। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में किसानों के साथ हुई हिंसा के बाद उनके समर्थन में महाराष्ट्र में सोमवार को सत्तारूढ़ महाविकास अघाड़ी सरकार की ओर से किए गए बंद के आह्वान के दौरान प्रदर्शनकारियों ने बृहन्मुंबई इलेक्ट्रिक सप्लाई एंड ट्रांसपोर्ट (BEST) की नौ बसों को नुकसान पहुंचाया।

बेस्ट के प्रवक्ता मनोज वरदे ने मीडिया को बताया कि मनखुर्द, शिवाजी नगर, ओशिवारा और घाटकोपर इलाके में कुछ लोगों ने चलती हुई बसों पर पत्थर फेंके जिसकी वजह से नौ बसों को नुकसान पहुंचा।

हालांकि एनसीपी की राज्य इकाई के अध्यक्ष जयंत पाटिल ने मीडिया से कहा कि इसका महाविकास अघाड़ी या एमवीए की सरकार से कुछ लेना-देना नहीं है। राज्य सरकार की इसमें कोई भूमिका नहीं है। राज्य भर में सिर्फ पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है।

जबकि कांग्रेस राज्य इकाई के अध्यक्ष नाना पटोले ने मीडिया को बताया कि लोग उन बहादुर किसानों को श्रद्धांजलि देने के लिए प्रदर्शन में बढ़-चढ़कर भाग ले रहे हैं, जो लखीमपुर में शांतिपूर्ण ढंग से धरना देने के दौरान मारे गए हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि हम केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं।

पुणे में बंद में शामिल होने के लिए पार्टियों की युवा शाखा ने बाइक रैलियां निकालीं। उनका कहना है कि हम जोर-जबरदस्ती से बंद नहीं करा रहे हैं। लोग किसानों के सम्मान में खुद इसमें भाग ले रहे हैं।

इस बीच, मुंबई में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की सांसद सुप्रिया सुले भी सड़क पर आकर बंद में शामिल हुईं और दक्षिण मुंबई में पार्टी कार्यकर्ताओं को इसमें शामिल होने के लिए संबोधित किया और साथ ही ऑटोरिक्शा चालकों के 13 यूनियनों के अलावा हमाल मजदूर संगठन ने भी बंद को अपना समर्थन देने के लिए इसमें शामिल होने की बात कही।

गौरतलब है कि राज्यव्यापी बंद के दौरान मध्य और पश्चिम रेलवे की सेवाएं हर रोज की तरह सामान्य रहीं। हालांकि बंद को देखते हुए चौकसी बढ़ा दी गई है, लेकिन अब तक किसी अवांछित घटना की सूचना नहीं मिली है।