आखिरकार मुख्यमंत्री फडणवीस ने दिया इस्तीफा, लग सकता है राष्ट्रपति शासन !

maharashtra cm resignation letter submitted now chance president power
maharashtra cm resignation letter submitted now chance president power

आज आठ नवंबर को महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर सुबह से ही मुंबई में भाजपा और शिवसेना के बीच जबरदस्त हलचल रही । राजनीति के पंडितों को यह अनुमान था कि शायद शाम होते-होते सरकार के गठन को लेकर कोई नतीजा निकल आएगा । लेकिन ऐसा हो नहीं सका आखिरकार मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलकर अपना इस्तीफा सौंप दिया है ।

अब महाराष्ट्र धीरे-धीरे राष्ट्रपति शासन की ओर बढ़ रहा है ! कल यानी 9 नवंबर को सरकार बनाने का आखिरी मौका है । अगर कल सरकार का गठन नहीं होता है तो राष्ट्रपति शासन लगना तय माना जा रहा है । हालांकि कोई भी दल यह नहीं चाहता है कि महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगे और दोबारा चुनाव हो । देवेंद्र फडणवीस ने आज राज्य के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की और अपना इस्तीफा सौंप दिया ।

9 नवंबर को मौजूदा सरकार का कार्यकाल खत्म हो रहा है । वैसे आज शाम को शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे एक प्रेस वार्ता भी करने वाले हैं । बस यही उम्मीद बची है कि इसमें शायद कोई निष्कर्ष निकल आए, लेकिन उम्मीद कम ही बची है ।

प्रदेश के मंत्रिमंडल के सदस्यों ने भी दिया इस्तीफा—

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के साथ ही उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों ने भी इस्तीफा दे दिया । क्योंकि सरकार का कार्यकाल खत्म हो रहा है, ऐसे में देवेंद्र फडणवीस का इस्तीफा दिया जाना एक तकनीकि प्रक्रिया है । अभी तक सरकार बनाने को लकर स्थिति साफ नहीं है । उधर खबर है कि भारतीय जनता पार्टी केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के जरिए शिवसेना से बातचीत करने की कोशिश कर रही है । बीजेपी के लिए वे आखिरी उम्मीद हैं कि वे शिवसेना को मना लेंगे ।

अब देखना होगा नितिन गडकरी इसमें कितना सफल हो पाते हैं । दूसरी ओर भाजपा पिछले 2 दिनों से शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से बात करने की कोशिश कर रही है लेकिन उद्धव किसी से बात नहीं कर रहे हैं । जो भी हो इस बार विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद महाराष्ट्र में सरकार का गठन न हो पाना महाराष्ट्र राजनीति के इतिहास में बहुत लंबे समय तक याद रखा जाएगा ।

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार