अंपायरिंग से नाराज़ महेंद्र सिंह धोनी ने किया कटाक्ष

Mahendra Singh Dhoni apologized to umpiring mistakes
Mahendra Singh Dhoni apologized to umpiring mistakes

दुबई । भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अफगानिस्तान के खिलाफ एशिया कप में टाई रहे मैच में अंपायरिंग गलतियों को लेकर कटाक्ष किया है, हालांकि उन्होंने साथ ही कहा कि वह इस मामले में साफतौर पर कुछ नहीं कहेंगे नहीं तो उनपर जुर्माना लग सकता है।

अफगानिस्तान और भारत का मंगलवार को यहां दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में हुआ सुपर फोर मैच रोमांचक रूप से बराबरी पर समाप्त हुआ था। हालांकि इस मैच में अंपायरिंग गलतियां भी हुई थीं जिससे भारत को नुकसान हुआ। मैच के बाद धोनी ने कटाक्ष भरे शब्दों में कहा,“ इस मैच में कई रन आउट हुये और कुछ ऐसी चीजें हुईं जिसके बारे में मैं बात नहीं करना चाहता हूं क्योंकि मैं नहीं चाहता कि इसके बारे में बोलकर मुझपर जुर्माना लग जाये।”

दरअसल मैच में विकेटकीपर बल्लेबाज़ और कप्तान धोनी तथा दिनेश कार्तिक को मैदानी अंपायर ग्रेगोरी ब्रेथवेट और अनीसुर रहमान ने पगबाधा आउट करार दिया जबकि टीवी रिप्ले में यह साफ था कि दोनों भारतीय बल्लेबाज़ों के मामले में गेंद स्टम्प से लगी ही नहीं। धोनी को जावेद अहमदी ने आठ रन पर और कार्तिक को मोहम्मद नबी ने 44 के स्कोर पर पगबाधा किया था।

भारतीय टीम 252 के स्कोर पर ऑल आउट हुई और मैच बराबरी पर समाप्त हो गया। लंबे अर्से बाद भारतीय टीम के लिये कप्तानी कर रहे धोनी ने कहा,“ मैच में जो स्थिति थी उसमें तो बराबरी पर रहना बुरा नहीं है क्योंकि टाई मैच हारने से तो काफी बेहतर है।”

भारतीय पारी में धोनी और कार्तिक के अलावा केदार जाधव का रनआउट होना भी टीम के लिये दुर्भाग्यपूर्ण रहा। जाधव क्रीज़ के पास बल्ला लाइन तक पहुंचाने के प्रयास में उसे घसीट रहे थे लेकिन वह कुछ अटक गया और मुजीब उर रहमान ने 19 के स्कोर पर उन्हें रनआउट किया। इसके अलावा लोकेश राहुल(60) पगबाधा हुये जबकि कुलदीप यादव और सिद्धार्थ कौल भी रनआउट हुये।

धोनी ने कहा,“ मैच में कुछ खिलाड़ियों का रनआउट होना अच्छा नहीं रहा। हमें शॉट चयन को लेकर भी ध्यान देना होगा। हम इस दिशा में बेहतर कर सकते थे।” उन्होंने बल्लेबाज़ों के साथ गेंदबाज़ों के प्रदर्शन पर भी कुछ असंतोष जताया। कप्तान ने कहा,“ हम मैच में अपने कई मुख्य खिलाड़ियों के बिना उतरे थे जिससे हम कुछ कमजोर पड़ गये। वहीं यहां फूल स्विंग नहीं थी और ऐसे में हमारे तेज़ गेंदबाज़ों को लेंथ लाइन का ध्यान रखना चाहिये था। हमारे 5 से 6 ओवर वहीं बर्बाद हो गये।”

विकेटकीपर बल्लेबाज़ों ने हालांकि विपक्षी अफगानिस्तान टीम के प्रदर्शन की खुले शब्दों में तारीफ की। उन्होंने कहा कि यह एक ऐसी टीम है जिसने सही मायने में विकास किया है और बहुत लंबा सफर तय किया है। भारतीय खिलाड़ी ने कहा,“ मुझे लगता है कि अफगानिस्तान के खेल में बहुत सुधार हुआ है। वह एशिया कप में शुरूआत से ही लय में खेल रहे हैं और यह काबिलेतारीफ है।”

उन्होंने कहा,“ अफगानिस्तान ने खेल में बहुत तरक्की की है। उन्होंने जबरदस्त बल्लेबाजी की और बहुत ही अच्छी फील्डिंग भी दिखाई। इसके अलावा उन्होंने जैसी गेंदबाजी की वह भी प्रभावशाली थी।” भारतीय टीम दुबई में होने वाले फाइनल में अब खिताब के लिये खेलेगी।