तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव की ओर से दरगाह में चादर पेश

अजमेर। तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव की ओर से शनिवार को अजमेर में स्थित महान सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह शरीफ में चादर पेश की गई।

चादर लेकर तेलंगाना के गृहमंत्री महमूद अली अजमेर शरीफ पहुंचे और उन्होंने ख्वाजा गरीब नवाज की बारगाह में हरे रंग की सुन्हेरी कड़ाई वाली मखमली चादर एवं अकीदत के फूल पेश किए।

जियारत के बाद गृहमंत्री महमूद अली ने बताया कि 18 वर्ष पूर्व 27 अप्रेल 2001 को टीआरएस पार्टी का गठन किया गया था, जिसके बाद तेलंगाना की राजनीति में नया दौर शुरू हुआ और आज तेलंगाना मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव के नेतृत्व में देश का अग्रणी राज्य है।

उन्होंने कहा कि हम अपनी पार्टी की स्थापना के 18 साल पूरा होने के बाद ख्वाजा साहब के दरबार में शुकराना अदा करने आए हैं। हम पहले भी दरबार में आ चुके हैं और कभी खाली नहीं लौटे। दरगाह शरीफ की अपनी अहमियत है। यहां से तरक्की एवं गंगा जमनी तहजीब का हिन्दुस्तान में संदेश जाता है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव निकट भविष्य में केंद्रीय राजनीति में आना चाहते हैं इसके लिए भी उनकी ओर से दुआ की गई। महमूद अली ने कहा कि जनता कांग्रेस एवं भाजपा दोनों को देख चुकी है, लिहाजा मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव सुनहरे भारत के निर्माण में सहायक बनना चाहते हैं।