योग करने से स्वस्थ, खुशहाल और सद्भावपूर्ण राष्ट्र का निर्माण: नरेंद्र माेदी

योग करने से स्वस्थ, खुशहाल और सद्भावपूर्ण राष्ट्र का निर्माण: नरेंद्र माेदी
योग करने से स्वस्थ, खुशहाल और सद्भावपूर्ण राष्ट्र का निर्माण: नरेंद्र माेदी

नयी दिल्ली | प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी ने आम जनता से नियमित रुप से योग करने की अपील करते हुए आज कहा कि वे इससे एक स्वस्थ, खुशहाल और सद्भावपूर्ण राष्ट्र का निर्माण करें।

मोदी ने आकाशवाणी पर अपने मासिक कार्यक्रम ‘ मन की बात’ के 44 वें संस्करण में देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि नियमित योग अभ्यास करने पर कुछ अच्छे गुण सगे-सम्बन्धियों और मित्रों की तरह हो जाते हैं। योग करने से साहस पैदा होता है जो सदा ही पिता की तरह रक्षा करता है। क्षमा का भाव उत्पन्न होता है जैसा माँ का अपने बच्चों के लिए होता है और मानसिक शांति हमारी स्थायी मित्र बन जाती है।

प्रधानमंत्री ने ऋषि भर्तृहरि का उल्लेख करते हुए कहा, ‘ नियमित योग करने से सत्य हमारी संतान, दया हमारी बहन, आत्मसंयम हमारा भाई, स्वयं धरती हमारा बिस्तर और ज्ञान हमारी भूख मिटाने वाला बन जाता है। जब इतने सारे गुण किसी के साथी बन जाएँ तो योगी सभी प्रकार के भय पर विजय प्राप्त कर लेता है।’ उन्होेंने कहा, ‘ एक बार फिर मैं सभी देशवासियों से अपील करता हूँ कि वे योग की अपनी विरासत को आगे बढ़ायें और एक स्वस्थ, खुशहाल और सद्भावपूर्ण राष्ट्र का निर्माण करें।’