अजमेर उत्तर से निर्दलीय प्रत्याशी संदीप तंवर को मिला माली समाज का समर्थन

अजमेर। विधानसभा चुनाव के मद्देनजर अजमेर उत्तर विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय प्रत्याशी संदीप तंवर ने रविवार को पुलिस लाइन, नयाबाडा, बसंत विहार कॉलोनी, जवाहर नगर क्षेत्र में सघन जनसंपर्क किया। माली बहुल क्षेत्र होने से उन्हें स्वजातीय जन का अपार समर्थन मिला।

बीजेपी और कांग्रेस के बीच चल रही मुख्य चुनावी जंग में तंवर ने मुकाबले को त्रिकोणीय बनाने के लिए माली समाज समेत सभी समाजों की 36 कौम से समर्थन और चुनाव चिन्ह अलमारी पर वोट करने की अपील की है। उन्होंने नयाबाडा में माली समाज के शिव मंदिर में माथा टेक कर अपने चुनावी जनसंपर्क की शुरुआत की।

इससे पहले अखिल भारतीय सैनिक फूलमालियान धर्मशाला रामदेवरा जैसलमैर के नयाबाडा स्थित प्रधान कार्यालय में संस्था अध्यक्ष बलबीर सिंह टाक की मौजूदगी में हुई बैठक में संदीप तंवर को माली समाज की ओर से पूर्ण समर्थन देने की घोषणा की गई। समाज के प्रबुद्धजनों ने कहा कि जिस तरह प्रमुख राजनीतिक दलों ने जिले की आठ विधानसभा सीटों में से एक पर भी माली समाज को नेतृत्व के काबिल नहीं समझा वह निदंनीय है। संदीप तंवर को समाज अपना प्रत्याशी घोषित करता है तथा तन, मन और धन से सहयोग करने का भरोसा दिलाता है।

संस्था अध्यक्ष टांक ने कहा कि राजनीतिक दल सार्वजनिक रूप से अजमेर उत्तर क्षेत्र में केवल मात्र 13 हजार माली वोट होने की बात करते हैं जो कि पूरी तरह गलत है। रामनगर, भोपों का बाडा, लोहाखान, पुलिस लाइन, क्रिश्चनगंज माली मोहल्ला, घूघरा घाटी, मीरशाह अली कॉलोनी, जवाहर नगर, हरि नगर आदि में ही माली परिवारों की संख्या 23 से 25 हजार के बीच है। इस बात की पुष्टि थोक तेलियान और थोक मालियान के राजस्व रिकार्ड से भी होती है। मालियों की कम संख्या बताकर इस समाज अनदेखी किया जाना बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।

रमेशचंद सतरावला ने बैठक के दौरान प्रत्याशी संदीप तंवर का मुंह मीठा कराकर और शिवमंदिर में माथा टेककर चुनाव प्रचार का आगाज करने का आशीर्वाद दिया। जनसंपर्क के दौरान पुलिस लाइन, भोपों का बाडा, लोहाखान से माली समाज के प्रबुद्ध लोगों ने संदीप तंवर के साथ लेकर सबसे परिचय कराया तथा वोट की अपील की।

जनसंपर्क के दौरान बलबीर सिंह टाक, उम्मेद सिंह टांक, कोषाध्यक्ष फूलचंद भाटी, रमेश चंद सतरावला, सुशील पंवार, संजय कुमार भाटी, ब्रजराज तुनवाल, मनोहर उबाणा, हेमंत ढलवाल, भरत तंवर, तेजकरण टांक, ओमप्रकाश कच्छावा, मोहनलाल महावर, कान सिंह, एडवोकेट बबीता टांक, नितेश तुनवाल, विजय सिंह मौर्य, महेन्द्र टांक, मेवाराम जादम समेत समाज के लोग मौजूद रहे।