ममता बनर्जी पाचवें चरण के बाद हतोत्साहित : अमित शाह

वर्द्धमान। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दावा किया कि पश्चिम बंगाल में पांचवें चरण के चुनाव के बाद मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ‘हतोत्साहित’ हो चुकी हैं क्योंकि अब तक हुए 180 सीटों के चुनाव में से 122 पर भारतीय जनता पार्टी ने बढ़त बना रखी है।

राज्य में विधानसभा की कुल 294 सीटें हैं। राज्य में अब तीन चरणों में 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को मतदान होना है। चुनाव परिणाम दो मई को घोषित होने हैं।

पूर्वी बर्धमान के पुरबस्थली उत्तर में पार्टी के उम्मीदवार के लिए चुनाव प्रचार करते हुए शाह ने कहा कि बनर्जी ने बंगाल में पांच चरणों के चुनाव होने के बाद से ही हतोत्साहित हैं क्योंकि भारतीय जनता पार्टी ने 122 से अधिक सीटों पर बढ़त बना ली है।

बनर्जी को उनकी कथित तुष्टीकरण की नीति के लिए फटकार लगाते हुए, शाह ने कहा,“दीदी इतनी नीचे चली गईं है कि उन्होंने शीतलकुची (कूच बिहार) के शवों के साथ रैलियां निकालने की भी योजना बनाई थी।

बनर्जी की आलोचना तब शुरू हुई जब भाजपा नेता सुवेंदु अधिकारी ने एक अप्रैल को दूसरे चरण में हुए नंदीग्राम चुनाव में जीत सुनिश्चित होने का दावा किया। भाजपा के सुवेंदु अधिकारी नंदीग्राम में सुश्री बनर्जी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं।

समर्थकों की ओर से ‘जयश्री राम’ के नारे के बीच शाह ने कहा कि क्या बंगाल ने पिछले 10 वर्षों में विकास देखा है? साथ ही लोगों से अपील की कि वे भाजपा को सत्ता में लाने के लिए वोट दें और देखें कि हम राज्य में क्या बदलाव लाएंगे, जो तीन दशक से अधिक के समय से वामपंथियों और पिछले 10 साल तृणमूल के शासन के अधीन रहा।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि यह स्पष्ट है कि 122 सीटों वाली भाजपा ममता दीदी से आगे है। हम ‘विश्वास, विकस या व्यापर’ के जरिये ‘बम, बंदूक या बरुद’ के मॉडल को बदलना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि पिछले 10 वर्षों में केंद्र द्वारा राज्य के विकास के हरसंभव प्रयास किए गए, लेकिन तृणमूल सरकार हमेशा एक दीवार की तरह खड़ी रही और वंचितों को राज्य की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित किया, जो देश में कई और राज्यों में उपलब्ध हैं।

भाजपा के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कहा कि भाजपा आठ चरणों के मतदान के अंत में 200 से अधिक सीटें जीतेगी और लोगों को आश्वासन दिया कि मुख्यमंत्री को मिट्टी के किसी सपूत में से ही चुना जाएगा।

केंद्रीय मंत्री ने सीमा पार से घुसपैठ रोकने और भ्रष्टाचार को खत्म करने तथा ‘कट मनी’ अभ्यास को खत्म कर अगले पांच वर्षों में ‘सोनार बंगला’ बनाने का भी वादा किया। उन्होंने कहा कि दो मई को दीदी की विदाई के बाद बंगाल में ‘विकास और व्यापार’ के मॉडल के साथ भाजपा सामने आएगी।