नंदीग्राम सीट की दोबारा मतगणना के लिए कोर्ट जाउंगी : ममता बनर्जी

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने सोमवार को कहा कि वह नंदीग्राम सीट की मतगणना को लेकर न्यायालय का दरवाजा खटखटायेंगी।

बनर्जी ने पार्टी मुख्यालय में दल के नेताओं की बैठक में कहा कि नंदीग्राम के निर्वाचन अधिकारी ने उन्हें संदेश भेजा था कि उनका जीवन खतरे में है और चुनाव आयाेग दोबारा मतों की गिनती की अनुमति नहीं दे रहा है। लगातार तीसरी बार सत्ता में वापसी करने की तैयारी कर रहीं बनर्जी ने कहा कि वह इस मसले को लेकर न्यायालय जाएंगी।

गौरतलब है कि सभी बाधाओं को पार करते हुए तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ने पश्चिम बंगाल विधानसभा की 213 सीटों पर विजय हासिल की है। पिछले विधानसभा चुनावों में तृणमूल कांग्रेस ने 211 सीटें जीती थी।

चुनाव आयोग ने रविवार काे तृणमूल कांग्रेस की नंदीग्राम में दोबारा मतों की गिनती की मांग ठुकरा दी थी। चुनाव आयोग ने पहले बनर्जी को 1200 मतों से विजयी होने की घोषणा कर दी थी लेकिन बाद में भाजपा के शिवेन्दु अधिकारी को 1957 मतों से जीत हासिल करने का एलान किया।

राज्य सभा सदस्य डेरेक ओ ब्रायन, पार्टी नेता फिरहाद हाकिम, सांसद कल्याण बनर्जी और अतिन घोष ने रविवार को मुख्य चुनाव अधिकारी से मिलकर नंदीग्राम में मतों की गिनती दोबारा करने की मांग करते हुए एक पत्र सौंपा था।

मुख्यमंत्री ने भाजपा की ओर से लगाई जा रहे हिंसा की घटनाओं के आरोपों को नकारते हुए कहा कि पुरानी तस्वीरें वितरित करके ऐसे आरोप लगाये जा रहे हैं। सुश्री बनर्जी ने सभी से शांति बनाये रखने की अपील करते हए कहा कि कोई भी किसी तरह की हिंसा में शामिल न हो। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से मिलकर लड़ना है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं सभी से शांति बनाए रखने और किसी तरह की हिंसा में शामिल न होने की अपील करती हूं। हम जानते हैं कि भाजपा और केन्द्रीय बलों ने हमें बहुत प्रताड़ित किया है। हमें शांति बनाए रखनी है। इस समय हमें कोविड-19 से लड़ना है।

मुख्यमंत्री ने सभी पत्रकाराें को कोरोना वारियर भी घोषित किया। बनर्जी आज ही राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मिलकर अपनी सरकार बनाने का दावा पेश करेंगी। राज्यपाल ने उन्हें सात बजे मिलने का समय दिया है। बनर्जी ने कहा कि उनके मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण समारोह एक छोटा कार्यक्रम होगा।