पीपीई किट पहनकर 20 करोड़ के गहने चोरी करने वाला अरेस्ट

पीपीई किट पहनकर 20 करोड़ के गहने चोरी करने वाला अरेस्ट

नई दिल्ली। दक्षिणी पूर्वी दिल्ली के कालकाजी इलाके में आभूषण की दुकान में पीपीई किट पहनकर 20 करोड़ से अधिक के गहने चुराने वाले शख्स को घटना के 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार करके पुलिस ने बड़ी सफलता हासिल की है और चोरी का सारा समान बरामद कर लिया है।

दक्षिण पूर्वी दिल्ली के पुलिस उपयुक्त आरपी मीणा ने गुरुवार को बताया कि गिरफ्तार आरोपी की पहचान शेख नूर (25) के रूप में हुई है। वह अंजलि ज्वैलर्स में ही इलेक्ट्रिशियन का काम करता था लेकिन पिछले कुछ दिनों से छुट्टी पर था। नूर पश्चिम बंगाल के हुगली जिले का रहने वाला है। इससे पहले वह कोलकाता में अंजलि ज्वैलर्स में काम करता था लेकिन एक साल से यहां अंजलि ज्वैलर्स में इलेक्ट्रिशियन के रूप में काम करता था।

उन्होंने कहा कि 20 जनवरी को शोरूम के मैनेजर अरिजीत चक्रवर्ती ने कालकाजी थाने के एसएचओ को फोन करके चोरी की घटना के बारे में बताया। मौके पर पहुंची पुलिस ने देखा शोरूम में शीशे के अंदर रखा सारा आभूषण गायब है।

इस वारदात की गुत्थी सुलझाने के लिए पुलिस ने आसपास के कई थानों के एसएचओ समेत अन्य अधिकारियों की टीमें बनाकर चोर को गिरफ्तार करने में सफलता मिली। चोर पीपीई किट पहनकर शोरूम में जाने के लिए पास की एक इमारत में घुसा और फिर छत पर जा पहुंचा। छत पर जाने के बाद कुछ इमारतों को पार कर शोरूम की छत पर पहुंच गया और उसके बाद वह शोरूम का ताला तोड़कर अंदर घुस गया।

अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने सीसीटीवी के साथ ही शोरूम के कर्मचारियों और पूर्व कर्मचारियों से पूछताछ की तथा आसपास की इमारतों में रहने वालों से भी पूछताछ की लेकिन कोई सुराग नहीं मिला।

इसी बीच शोरूम के एम कर्मचारी शेख नूर के 10 जनवरी से छुट्टी पर जाने का पता चला। पुलिस ने जब नूर से बात की उसने बताया कि वह कोलकाता में मौजूद है लेकिन, पुलिस ने जब उसका नंबर ट्रेस किया गया तो मालूम चला कि वह कोलकाता नहीं बल्कि दिल्ली के करोल बाग में ही मौजूद है। इससे पुलिस का शक गहरा हो गया और उसे करोल बाग से गिरफ्तार करने पर सारी गुत्थी सुलझ गई।

पुलिस के अनुसार आरोपी ने अपना जुर्म कबूल करते हुए कहा कि अपने साथियों द्वारा अपमानित करने से वह परेशान था और इसी का बदला लेने के लिए उसने वारदात को अंजाम दिया।