अजमेर : मनकामेश्वर महादेव मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा में उमडा जन सैलाब

अजमेर। पंचशील कॉलोनी बी ब्लॉक में मनकामेश्वर महादेव मंदिर का दो दिवसीय जीर्णोद्धार एवं प्रतिमा प्राण प्रतिष्ठा समारोह मंगलवार को विधिविधान के साथ प्रारंभ हुआ। पंडित गोरधनलाल शास्त्री ने मंत्रोच्चार के बीच शिवलिंग के साथ गणेश, सीताराम, लक्ष्मण-हनुमान एवं अन्य देवी देवताओं की भव्य एवं अलौकिक प्रतिमाओं की शुभ मुहूर्त में प्राण-प्रतिष्ठा कराई गई।

mankameshwar shiv mandir pran pratishtha at panchsheel colony in ajmer
mankameshwar shiv mandir pran pratishtha at panchsheel colony in ajmer

इससे पहले प्रतिमा प्राण प्रतिष्ठा अनुष्ठान संकल्प और कलश यात्रा के साथ शुरू हुआ। कलश यात्रा में सैकडों महिलाएं और युवतियां शामिल हुई। इस अवसर पर मंदिर विकास समिति के सदस्य और कॉलोनी के गणमान्य नागरिक विशेष रूप से मौजूद रहे।

कलश यात्रा में शामिल नारी शक्ति वैदिक मंत्रोच्चार, जयकारे और बैंड धुन के साथ सामुदायिक भवन से जल लेकर शोभायात्रा के रूप में मंदिर पहुंचे। मार्ग में जय माता दी, जय गणेश, बजरंग बली की जय, भवगवान विश्वकर्मा, सूर्य भगवान की जय के उद्घोष से पूरा वातावरण गुंजायमान हो रहा था। नृत्य संगीत के साथ महिलाएं कलश लेकर मंदिर परिसर पहुंचीं तो उनका जोरदार स्वागत किया गया।

mankameshwar shiv mandir pran pratishtha at panchsheel colony in ajmer

दोपहर में हुए यज्ञ में समाजजनों ने आहुतियां दीं। दिनभर चले धार्मिक आयोजनों के दौरान सम्पूर्ण कॉलोनी के धर्मप्रेमी श्रद्धा, भक्ति और प्रेम के अदभुत संगम में गोते लगाते रहे। भक्तजनों ने इस आयोजनों में पूर्ण मनोयोग से भाग लिया। शाम को सुंदरकांड में बडी संख्या में माताओं बहनों तथा भक्तों ने भाग लिया।

समाज की आध्यात्मिक चेतना, धार्मिक आस्था और विश्वास के केन्द्र शिव मंदिर का हाल ही में जीर्णोधार कर इसे भव्य और आकर्षक रूप दिया गया। मंदिर-निर्माण में सेवा भावी धर्मप्रेमियों ने बढचढकर सहयोग किया।

मंदिर को दीवाली की भांति विविध प्रकार से सजाया गया। रंग बिरंगी झालरों और दीपमालिकाओं से सुशोभित मंदिर इन्द्रलोक का आभास करा रहा था। मंदिर में विराजित राम दरबार की प्रतिमाएं अलौकिक आनन्द की अनुभूति करा रही थी।

समापन पर भंडारा बुधवार को

मंदिर प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव के समापन दिवस पर बुधवार शाम 7 बजे विशाल भंडारे का आयोजन होगा। भंडारे में माता बहनों तथा अन्य भक्तगणों के बैठने की उचित व्यवस्था रहेगी।

मंदिर जीर्णोद्धार में इनका खास सहयोग

कॉलोनी के मंदिर को भव्य रूप देने में यूं तो सभी धर्मप्रेमियों का सहयोग रहा। ऐसे में भामाशाह के रूप में अर्जुनराम जांगिड, गोरधनलाल खंडेलवाल, कैलाश मालू, उदयचंद पाराशर, वेदप्रकाश जांगिड, प्रकाश मेहरा, गोपाल चौधरी, भंवरलाल जांगिड, दिलीप राम चौधरी, विनोद माथुर, विनय स्वरूप जैमन, अमृत अग्रवाल, राजेश गर्ग, आरके खत्री, रामावतार चौधरी, भींयाराम जांगिड, गोपाल जांगिड, सेठ हरिओम शर्मा, सत्यनारायण ओझा, कपिल माथुर, अशोक मीना, हरकेश मीना, बंटी चैलानी, अशोक पाराशर, विनीत कटियार, रूपसिंह मीना, कर्नल संग्राम सिंह राठौड, सोहनलाल शर्मा, कैलाशचंद विजयवर्गीय, रूप नारायण ​असोपा, किशन चैलानी, नंदकिशोर जांगिड, नौरतराम चौधरी, विजय सिंह, अजय माथुर आदि का विशेष आर्थिक सहयोग रहा।