मन की बात : आत्मनिर्भर भारत सही दिशा में उठाया गया कदम

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आर्थिक मोर्चे पर सरकार के हाल में लिए गए फैसलों को सही दिशा में उठाए गए कदम करार देते हुए रविवार को कहा कि इनसे ग्रामीण क्षेत्रों में उद्योग-धंधे बढ़ेंगे और स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा मिलेगा।

मोदी ने आकाशवाणी पर अपने 65वें रेडियो कार्यक्रम मन की बात में राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना महामारी के कारण अनेक ऐसी चुनौतियां उत्पन्न हुई है जिनका समाधान संभव है। यदि समय रहते यह कदम उठाए गए होते तो मजदूरों को बेहिसाब तकलीफ नहीं उठानी पड़ती।

उन्होंने कहा कि सरकार ने हाल ही में आर्थिक मोर्चे पर कई कदम उठाए हैं जिनसे ग्रामीण क्षेत्रों में उद्योग-धंधे स्थापित होंगे और लोगों को स्थानीय स्तर पर रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। उन्होंने स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए आत्मनिर्भर भारत बनाने की दिशा में सरकार के कदमों को सही करार दिया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस संकट की सबसे बड़ी चोट, अगर किसी पर पड़ी है, तो हमारे गरीब, मजदूर, श्रमिक वर्ग पर पड़ी है। उनकी तकलीफ, उनका दर्द, उनकी पीड़ा, शब्दों में नहीं कही जा सकती। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने अभी जो फैसले लिए हैं, उससे गांवों में रोजगार, स्वरोजगार, लघु उद्योगों से जुड़ी विशाल संभावनाएं खुली हैं।

कोरोना महामारी से उत्पन्न चुनौतियों का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि ये फैसले, इन स्थितियों के समाधान के लिए हैं, आत्मनिर्भर भारत के लिए हैं, अगर, हमारे गांव, आत्मनिर्भर होते, हमारे कस्बे, हमारे जिले, हमारे राज्य, आत्मनिर्भर होते, तो, अनेक समस्याओं ने, वो रूप नहीं लिया होता, जिस रूप में वो आज हमारे सामने खड़ी हैं।

उन्होंने कहा कि तमाम चुनौतियों के बीच आत्मनिर्भर भारत पर, आज, देश में, व्यापक मंथन शुरू हुआ है। लोगों ने, अब, इसे अपना अभियान बनाना शुरू किया है। इस अभियान का नेतृत्व देशवासी अपने हाथ में ले रहे हैं।

मोदी ने कहा कि बहुत से लोगों ने तो ये भी बताया है, कि, उन्होंने जो-जो सामान, उनके इलाके में बनाए जाते हैं, उनकी, एक पूरी सूची बना ली है। ये लोग अब इन स्थानीय उत्पादों को ही खरीद रहे हैं, और वोकल फॉर लोकल को बढावा दे रहे हैं। मेक इन इंडिया को बढ़ावा मिले, इसके लिए, सब कोई, अपना-अपना संकल्प जता रहा है।

प्रधानमंत्री ने बिहार के हिमांशु और असम के सुदीप का उल्लेख करते हुए कहा कि मुझे पूरा भरोसा है ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ इस दशक में देश को नई ऊंचाई पर ले जाएगा।

कोरोना के खिलाफ लड़ाई कमजोर नहीं होने दें

मोदी ने देशवासियों का आह्वान किया कहा है कि कोराेना के खिलाफ लड़ाई अब भी गंभीर है और इसे किसी भी स्तर पर कमजोर नहीं होने देना है। मोदी ने कहा कि हमें इस बात पर विशेष ध्यान देना है कि कोरोना की लड़ाई में कमजोर नहीं पड़ना है। यह लड़ाई अब भी गंभीर है और इसका खतरा लगातार चुनौतीपूर्ण बना हुआ है इसलिए कोरोना के खिलाफ लड़ाई के मोर्चे पर मजबूती से डटे रहने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए जिन नियमों का पालन करते आए हैं, उनको जारी रखना है। इसके लिए अब भी नियमित रूप से समय-समय पर हाथ धोने हैं, मास्क पहनना है, दूसरे आदमी से दो गज की दूरी बनाए रखनी है, अपने आस पास सफाई रखनी है और कोरोना को हराने के लिए इन सब सावधानियों का वैसे ही पालन करते रहना है जैसे अभी तक करते आए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हम सबको ये भी ध्यान रखना होगा कि इतनी कठिन तपस्या के बाद, इतनी कठिनाइयों के बाद देश ने जिस तरह हालात संभाला है, उसे बिगड़ने नहीं देना है। हमें इस लड़ाई को कमज़ोर नहीं होने देना है। हम लापरवाह हो जाएं या सावधानी छोड़ दें तो ये कोई विकल्प नहीं हैं। कोरोना के खिलाफ़ लड़ाई अब भी उतनी ही गंभीर है। आपको, आपके परिवार को, कोरोना से अभी भी उतना ही गंभीर ख़तरा हो सकता है। हमें, हर इंसान की ज़िन्दगी को बचाना है अपने लिए, अपनों के लिए, अपने देश के लिए, ये सावधानी ज़रूरी हैं।