भारतीय डाक का नया अवतार, डाकघर आया आपके द्वार

शिवमोग्गा। भारतीय डाक विभाग अब पार्सल, चिट्ठियों एवं ज़रूरी दस्तावेज़ों को आॅनलाइन बुकिंग करके ग्राहक के घर से उठाने और सबसे कम समय में उसके मुकाम तक पहुंचाने की सेवा शुरू करने जा रहा है।

डिजीटल इंडिया अभियान से जुड़कर भारतीय डाक अब उन्हीं देशी-विदेशी कूरियर कंपनियों को मात देने जा रही है जिन्होंने ग्लैमरस मार्केटिंग हथकंडों से बाज़ार में उसे हाशिये पर धकेल दिया था।

संचार मंत्री मनोज सिन्हा ने शनिवार को यहां कर्नाटक में भारत संचार निगम लिमिटेड के पहले 4 जी मोबाइल टावर का लोकार्पण करने के मौके पर भारतीय डाक की ‘क्लिक एंड बुक’ प्रणाली का भी शुभारंभ किया।

इस मौके पर सिन्हा ने कहा कि बीएसएनएल ने पिछले तीन साल में 1600 करोड़ रुपए की विभिन्न परियोजनाएं आरंभ की हैं। भारत नेट परियोजना के माध्यम से राज्य की सभी छह हजार ग्राम पंचायतों को परियोजना के प्रथम चरण में ही ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क से जोड़ दिया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य में 1921 थ्री जी बीटीएस लगाए गए हैं और सभी तीन हजार एक्सेस प्वाइंटों पर वाई फाई सेवा शुरू की गई है।