मुरादाबाद में 81 हिन्दू परिवारों के पलायन की घटना को पुलिस ने नकारा

मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में 81 परिवारों के पलायन करने की खबर को भ्रामक करार देते हुए पुलिस ने कहाकि सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस प्रवक्ता ने बुधवार को बताया कि सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म पर एक खबर वायरल की जा रही है, जिसमें मुरादाबाद के कटघर इलाके में एक कालोनी के लोगों ने सामूहिक पलायन की चेतावनी देते हुए अपने घरों पर पूरी कालोनी बिकाऊ है, के बोर्ड लगाए हैं।

इस सम्बंध में अपर नगर मजिस्ट्रेट व क्षेत्राधिकारी कटघर ने संयुक्त जांच की। जांच में कटघर इलाके में शिव मन्दिर कालोनी बी ब्लॉक में कुल 81 मकान हैं। इन मकानों में किसी मकान की अभी तक बिक्री नहीं हुई है। कोलोनी के मुख्य द्वार दक्षिण के बराबर का मकान तथा कालोनी के पश्चिम दिशा के द्वार के बराबर का मकान दो माह पूर्व स्वेच्छा से इनके मालिकों द्वारा विक्रय किया गया है। मकान बेचने के लिए किसी पर कोई दबाव नहीं डाला गया है।

क्षेत्रीय पार्षद व कालोनी के लोगों ने बताया कि शिवमन्दिर कालोनी बी-ब्लॉक के लोग चाहते हैं कि उनकी कालोनी का मकान कालोनी वासियों की सहमति के बगैर कोई बाहरी व्यक्ति को न बेचा जाए। इस सम्बंध में दो अगस्त को कालोनी वासियों द्वारा गोष्ठी की गई थी, जिसमें रेजिडेंट वैलफेयर सोसाईटी बनाए जाने का निर्णय लिया गया है। कालोनीवासियों ने बताया कि यहां पलायन जैसी कोई स्थिति नहीं है।

पुलिस ने बताया कि इस कालोनी निवासियों को अवगत कराया गया की मकान खरीदने बेचने के लिए हर व्यक्ति स्वतंत्र है। अगर आप अपना मकान नहीं बेचना चाहते हैं तो आप पर कोई दबाव नहीं बना सकता। पुलिस प्रशासन आपके सहयोग में है। देश के किसी भी क्षेत्र में रहने का अधिकार संवैधानिक अधिकार है। सोशल मीडिया पर कुछ लोगों द्वारा जानबूझ कर सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने का कुप्रयास किया जा रहा है। ऐसे व्यक्तियों के विरुद्ध विधिक कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि मुरादाबाद स्थित पाश कालोनी लाजपत नगर में 81 परिवारों के पलायन करने संबंधी जानकारी स्थानीय निवासियों ने मीडियाकर्मियों को दी गई थी। सूचना मिलते ही स्थानीय विधायक रीतेश गुप्ता ने अपने बयान में कहा था कि शिव मंदिर क्षेत्र में स्थानीय लोगों के उत्पीड़न की शिकायतें मिली थी कि कथित रूप से षड्यंत्र रचा जा रहा है कि अलग कम्युनिटी के द्वारा वास्तविक मूल्य से अधिक कीमत पर कालोनी में मकान खरीदे जा रहे हैं। जो उनके भविष्य के लिए खतरा बना रहता है।

विधायक ने कहा कि वैसे तो चिंता वाली कोई बात नहीं, लेकिन ऐसी स्थिति होने पर वह स्थानीय लोगों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं।