अजमेर में दो विश्वविद्यालयों में मंगलवार को दीक्षांत समारोह

अजमेर/जयपुर। राजस्थान के अजमेर में महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय का नवां तथा केंद्रीय विश्वविद्यालय का छठा दीक्षांत समारोह मंगलवार को आयोजित किया जाएगा।

महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय का नवां दीक्षांत समारोह विश्वविद्यालय परिसर में बनाए गए विशेष डोम सभागार में आयोजित होगा जिसमें राज्यपाल एवं कुलाधिपति कलराज मिश्र एक कुलाधिपति पदक एवं 33 स्वर्ण पदक सहित 18 शोध उपाधियां प्रदान करेंगे। इस अवसर पर वॉटर मैन राजेंद्र सिंह दीक्षांत भाषण देंगे।

राजस्थान केंद्रीय विश्वविद्यालय के छठे दीक्षांत समारोह का आयोजन अजमेर जिले के बांदरसिंदरी स्थित विश्वविद्यालय परिसर में होगा जिसमें भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के अध्यक्ष डॉ. के शिवन मुख्य अतिथि होंगे। कुलपति डॉ. अरुण पुजारी ने बताया कि दीक्षांत समारोह के दौरान 42 स्वर्ण पदक प्रदान किए जाएंगे।

विश्वविद्यालय संबद्ध महाविद्यालयों में 74 हजार से ज्यादा डिग्रियों का वितरण चार दिसंबर से महाविद्यालय स्तर पर किया जाएगा।

संविधान की प्रस्तावना और कर्त्तव्यों का वाचन होगा : मिश्र

राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा है कि विश्वविद्यालयों में होने वाले समारोहों में संविधान की प्रस्तावना और मूल कर्त्तव्यों का वाचन कराया जाएगा। मिश्र ने कहा कि युवा हमारे देश का भविष्य हैं। युवाओं को जागरूक करने की जरूरत है। विश्वविद्यालयों में युवाओं में संविधान के प्रति जागरूकता लाने के लिए इस तरह की पहल करना जरूरी है।

उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालयों के समारोहों में संविधान की प्रस्तावना और मूल कर्त्तव्यों का वाचन कराने की शुरूआत अजमेर के महर्षि दयानन्द सरस्वती विश्वविद्यालय से की जाएगी। तीन दिसम्बर को अजमेर में विश्वविद्यालय का नवां दीक्षांत समारोह है। वह स्वयं दीक्षांत समारोह में उपस्थित लोगों को प्रस्तावना एवं कर्त्तव्यों का वाचन कराएंगे।

मिश्र ने कहा कि अजमेर में दीक्षांत समारोह में वह राष्ट्रगान एवं कुलगीत के बाद संविधान की प्रस्तावना और कर्त्तव्यों को पढ़ेंगे। उनके साथ समारोह में मौजूद छात्र-छात्राओं सहित उपस्थित सभी लोग भी इनका वाचन करेंगे।