मीडिया महासम्मेलन : सांस्कृतिक संध्या में कलाकारों ने बिखेरे इंद्रधनुषी रंग

माउंट आबू। ब्रह्माकुमारी के ज्ञानसरोवर परिसर के हारमनी हॉल में सैकड़ों की संख्या में आए मीडियाकर्मियों के समक्ष देश के विभिन्न प्रांतों से पहुंचे कलाकारों ने विविध प्रस्तुतियां देकर खूब रंग जमाया।

मीडिया महासम्मेलन के अवसर पर आयोजित इस सांस्कृतिक संध्या का संचालन बीके विवेक, अहमदाबाद से आई बीके नंदिनी व बिलासपुर बीके मंजू ने किया।

सांई ग्रुप चण्डीगढ़ के कलाकारों ने गणेश देवा भजन से गणपति बप्पा की वंदना करते हुए कार्यक्रम का शुभारंभ किया। मुंबई के अमृत राठौर ने गीत के माध्यम से आशाएं कुछ पाने की हो तो संकल्पबद्ध होने का संदेश दिया। डिवाइन एंजिल ग्रुप बेलगाम की शिल्पा व अश्विनी ने ओम नमः शिवाय गीत-नृत्य प्रस्तुत करके वातावरण को आध्यात्मिकता से भर दिया।

आगरा के काजोल डांस ग्रुप ने राधे राधे गीत पर कृष्ण लीला की अत्यंत ही आकर्षक प्रस्तुति दी। फालना से आई कविता किरण ने गजल गायन से बखूबी प्रभावित किया। सुप्रिसद्ध गीतकार ओम व्यास ने जाने क्या देखा मुझमें शीर्षक गीत प्रस्तुत करते हुए आध्यात्मिकता से जुड़ने का संदेश दिया।

चण्डीगढ़ की सिमोनी ने इन्हीं भावनाओं को कायम रखते हुए शिव पिया जब साथ हैं..गीत पर प्रभावशाली नृत्य प्रस्तुति दी। जीवन शैली संवारने के लिए अचलपुर के अविनाश भाई ने मुस्कुराना और गुनगुनाना सीखने की प्रेरणा दी। शिल्पा व अश्विनी ने समय की यह पुकार है..पर नृत्य प्रस्तुत करके अपनी प्रतिभा बखूबी उजागर की।

ज्ञानसरोवर के संदीप भाई ने देवा श्री गणेशा प्रस्तुति द्वारा गणेश वंदना की। आगरा के काजोल डांस ग्रुप ने जब लोकप्रिय फिल्मी गीत संदेशे आते हैं…को नए अंदाज में प्रस्तुत करते हुए नृत्य किया तो पूरा हाल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। सांई ग्रुप चण्डीगढ़ की पंजाबी लोकनृत्य भंगड़ा की प्रस्तुति से लगभग ढ़ाई घंटे तक चले इस कार्यक्रम का यादगार समापन हुआ।