अजमेर में ब्लैक फंगस से चिकित्साकर्मी प्रहलाद वैष्णव की मौत

अजमेर। राजस्थान के अजमेर में ब्लैक फंगस से दूसरी मौत का मामला सामने आया है। अजमेर में केकड़ी उपखंड के ग्राम प्रान्हेड़ा निवासी तथा ब्लॉक सीएमएचओ ऑफिस में कार्यरत चिकित्साकर्मी प्रहलाद वैष्णव (52) ब्लैक फंगस से मौत हो गई। जिले में यह दूसरी मौत है। इससे पहले किशनगढ़ उपखंड के अरांई में एक शिक्षक की भी ब्लैक फंगस से मौत हो गई थी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कोरोना संक्रमण के बाद ब्लैक फंगस की चपेट में आए मृतक प्रहलाद वैष्णव का इलाज पहले केकड़ी फिर जयपुर और उसके बाद भीलवाड़ा में चला। भीलवाड़ा में उन्होंने शनिवार को दम तोड़ दिया और परिजनों ने भीलवाड़ा से लाकर उन्हें प्रान्हेड़ा में ही उनका अंतिम संस्कार किया।

ब्लैक फंगस की चपेट में आने से पहले वह कोरोना संक्रमण से ठीक होकर अपने गांव प्रान्हेड़ा आ गए और उसके बाद ब्लैक फंगस की चपेट में आए। वह शुगर के मरीज थे। अजमेर के जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय में ब्लैक फंगस के लिए गठित विशेष वार्ड में 48 मरीज भर्ती है जिनमें तीन संदिग्ध है। चिकित्सालय सूत्रों के अनुसार चार मरीजों के ऑपरेशन भी किए गए।