बांग्लादेश ने पहले वनडे में भारत को एक विकेट से हराया

मीरपुर। बांग्लादेश ने मीरपुर के शेरे बांग्ला नेशनल स्टेडियम में रविवार को पहले एकदिवसीय मैच (वनडे) में मेहदी हसन की दमदार बल्लेबाजी के बदौलत रोमांचक मुकाबले में भारत को एक विकट से हरा दिया। भारत के लिए विकेटकीपर बल्लेबाज के एल राहुल की जुझारू पारी उसके काम न आई और मेजबान टीम से भारत को हार का स्वाद चखने पर मजबूर कर दिया।

भारत और बांग्लादेश के बीच तीन एकदिवसीय मैच की सीरीज का पहला मुकाबला आज मीरपुर में शेरे बांग्ला नेशनल स्टेडियम में खेला गया। जहां भारत ने मेजबान टीम को जीत के लिए 187 का लक्ष्य दिया। जिसे बांग्लादेश की टीम ने आसानी से हासिल कर लिया और भारत को एक विकेट से मात दे दी। इस जीत के साथ मेजबान टीम वनडे सीरीज में 1-0 से आगे है।

भारत के 186 के लक्ष्य के बाद मेजबान टीम की हालांकि पारी की शुरुआत अच्छी नहीं और भारतीय तेज गेंदबाज दीपक चाहर ने पहले ओवर की पहली ही गेंद पर नजमुल हुसैन शांतो को बिना खाता खोल पवेलियन भेजा दिया था।

भारत के 186 रन का पीछा करते हुए मेजबान टीम ने एक समय नौ विकेट खोकर केवल 136 बना पाया था उसके बाद मेहदी हसन ने मुस्ताफिजुर रहमान के साथ दसवें विकेट के लिए अर्धशतकीय साझेदारी की बदौलत भारत के जबड़े से जीत को छीन लिया और इस बेहद रोमांचक मुकाबले में बंगलादेश ने भारत को एक विकेट से हरा का मुख देखने को मजबूर कर दिया। बंगलादेश ने चार ओवर शेष रहते जीत हासिल कर दी।

बांग्लादेश की पारी की शुरूआत हालांकि अच्छी नहीं रही और भारतीय तेज गेंदबाज दीपक चाहर ने अपने पहले ओवर की पहली गेंद पर शांतो को रोहित शर्मा के हाथों कैच करा कर पवेलियन के लिए भेज दिया। मेजबान टीम के अनामुल को नौंवे ओवर में दीपक चाहर ने एलबीडब्ल्यू आउट किया लेकिन अनामुल ने डीआरएस का इस्तेमाल कर अपना विकेट बचा लिया, लेकिन 10वें ओवर में अनामुल अपना विकेट नहीं बचा पाए और सिराज के उन्हें 14 रन के निजी स्कोर पर आउट कर दिया। मेजबान टीम को 14वें ओवर में दो विकेट के नुकसान पर 47 रन था और भारत को बांग्लादेश के तीसरे विकेट की दरकार थी।

भारतीय स्पिनर वाशिंगटन सुंदर ने 20वें ओवर में अपनी पहली गेंद में लिटिन दास को फंसा लिया और लिटिन 41 के निजी स्कोर पर आउट हो गयी जो भारत के हिसाब से बड़ी सफलता थी। लिटिन को विकेट के पीछे के एल राहुल ने कैच किया। इसके बाद 24वें ओवर में भारत को शाकिब अल हसन के रूप में चौथी सफलता मिली। जिन्हें वाशिंगटन सुंदर ने आउट किया। विराट कोहली ने हवा में डाइव लगार शाकिब का कैच लपका।

भारत न 35वें ओवर की आखिरी गेद पर शार्दुल ठाकुर ने महमूदुल्लाह को 14 रन पर और 36वें ओवर की पहली गेंद पर मोहम्मद सिराज ने मुश्फिकुर रहीम को 18 रन पर आउट कर भारत को मैच में वापसी करायी। सिराज ने 36वों ओवर विकेट मेडन रहा। जिसके बाद भारत की जीत का पलड़ा भारी नजर आने लगा।

भारत की ओर से डेब्यू करने वाले कुलदीप सेन ने अफीफ हुसैन को अपना शिकार बनाकर टीम की झोली में सातवां विकेट डाल और भारत को जीत की दहलीज पर ले आया। उस समय भारत को जीत के लिए एक विकेट की दरकार थी जो आखिर में उसके गले की फांस बन गई।

बंगलादेश के पुछल्ले बल्लेबाजों में महेदी हसन और मिस्ताफिजुर रहमान ने अंत तक खेलते हुए भारत के जबड़े से जीत को निकाल लिया। भारत के लिए के एल राहुल को मेहदी हसन का कैच छोड़ना काफी भारी पड़ा। अगर राहुल के हाथ से कैच छिटक कर नहीं निकलता तो भारत निश्चित तौर से यह मैच जीत जाता।

राहुल के कैच छोड़ने के बाद मेहदी हसन ने एक और बॉल को ऊंचा उठाया, लेकिन बांउडरी के पास खड़े वाशिंगटन सुंदर ने कैच पकड़ने की कोशिश नहीं की या फिर उन्हें हवा में गेंद नहीं दिखाई दी। जिसके बाद महेदी हसन ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और अपनी टीम को पहले एकदिवसीय मैच में जीत का स्वाद चखाया।

भारत के ओर से मोहम्मद सिराज सफल गेंदबाज रहे। सिराज ने 10 ओवर में 32 रन देकर तीन विकेट चटकाए। दीपक चाहर ने आठ ओवर में 31 रन देकर एक विकेट हासिल किया। कुलदीप सेन और वाशिंगटन सुंदर ने दो-दो विकेट और शार्दुल ठाकुर ने एक विकेट लिया। शाहबाज अहमद के खाते में एक भी विकेट नहीं आया।

बांग्लादेश के मेहदी हसन को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया। महेदी हसन ने 39 बॉल पर 38 रन भारत के जबड़े से जीत को खीचते हुए टीम की झोली में डाल दी और महेदी ने नौ ओवर में 43 रन देकर एक विकेट भी लिया।