जैन समाज का अनोप मण्डल के विरूद्ध कार्यवाही की मांग को लेकर ज्ञापन

उदयपुर। राजस्थान के उदयपुर में सकल जैन समाज ने अनोप मंडल के कतिपय सदस्यों द्वारा जैन समाज के विरुद्ध किए जा रहे दुष्प्रचार एवं मंडल की अवांछनीय गतिविधियों की अविलंब जांच करवा कर कठोर कारवाई करने के संबंध में आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नाम जिला कलेक्टर चेतन देवड़ा को एक ज्ञापन सौंपा।

जैन समाज के संयोजक अनिल नाहर ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से अनोप मंडल नामक एक जैन विरोधी संगठन प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में अशिक्षित, गरीब एवं पिछड़ी जातियों के लोगों को जैन धर्म, जैन साधु एवं साध्वियों के खिलाफ दुष्प्रचार कर जहर घोलने का काम कर रहा है। इस संगठन से जुड़े लोग जैन धर्म के विरुद्ध असभ्य भाषा का प्रयोग कर रहे हैं और गांव-गांव घूम कर जैन धर्म के विरुद्ध लोगों को उकसा रहे हैं।

ज्ञापन में बताया कि अनोप मंडल ने कई स्थानों पर जैनों के विरुद्ध हिंसा भड़काने में अपनी अहम भूमिका निभाई है जबकि जैन समाज पूर्ण रूप से भगवान महावीर के सिद्धांत जियो और जीने दो के आधार पर अहिंसक रूप से तन मन धन से समाज व राष्ट्र के उत्थान के लिए समर्पित है।

ऐसे समाज के विरुद्ध अनोप मंडल के सदस्यों द्वारा व्हाट्सएप, फेसबुक, सीडी, साहित्य एवं सोशल मीडिया के माध्यम से जो दुष्प्रचार किया जा रहा है। उससे जैन धर्म के लाखों अनुयायियों की धार्मिक भावनाओं को गहरा आघात लगा है।

ज्ञापन में माग की गई कि अनोप मण्डल के विरूद्ध जांच करवाकर दोषियों को शीघ्र गिरफ्तार कर उनके विरूद्ध सख्त कार्यवाही करने एवं अनोप मंडल को प्रतिबंधित किया जाए।