अजमेर में 15.20 करोड़ की लागत से बनने वाले साइंस पार्क का शिलान्यास

अजमेर। अजमेर में 15.20 करोड़ की लागत से बनने वाले साइंस पार्क का शिलान्यास रविवार सुबह पंचशील में झलकारी बाई स्मारक के सामने स्थित खाली भूमि पर किया गया।

उच्च शिक्षामंत्री किरण माहेश्वरी एवं शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी ने कलक्टर आरती डोगरा, विभाग के उच्चाधिकारियों और आम जन की मौजूदगी में साइंस पार्क की आधारशिला रखी। यह पार्क 20 हजार 234 वर्ग मीटर के विशाल क्षेत्र में बनेगा।

इस अवसर पर आयोजित समारोह को संबोधित करतेे हुए शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी ने बताया कि यह पार्क करीब 23 महीने में बन कर तैयार होगा। अजमेर में इस साइंस पार्क की स्थापना के लिए लम्बे समय से प्रयास किया जा रहा था।

केंद्र के कला एवं संस्कृति मंत्रालय से स्वीकृति के बाद अब इसका निर्माण शुरू होनेे जा रहा है। साइंस पार्क राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद की देखरेख में तैयार होगा। इसके निर्माण में आधा खर्च स्मार्ट सिटी योजना के तहत वहन किया जाएगा।

उच्च शिक्षामंत्री माहेश्वरी ने सांइस पार्क को अजमेर के वाशिदों के लिए सौगात बताते हूए कहा कि कलकत्ता, मुंबई जैसे महानगरों में गिनी चुनी जगहों पर ही साइंस पार्क की सुविधा है, अब अजमेर भी विज्ञान में रुचि रखने वाले बच्चों की जिज्ञासा शांत हो सकेगी। उन्हें तारामंडल चित्र के रूप में सिर्फ किताबों में ही देखने को मिलता था, अब उसका साकार रूप यहां देख सकेंगे।

उन्होंने भरोसा दिलाया कि निर्धारित 27 माह की समयावधि में ही साइंस पार्क बनकर तैयार हो जाएगा। इसके निर्माण से लेकर अन्य कामों पर केन्द्र सरकार की एंजेसियों का दखल रहेगा। तैयार होने के बाद केन्द्र इसे राज्य सरकार को हस्तानांतरित कर देगा।

उन्होंने निर्माणाधीन साइंस पार्क की विशेषताओं का उल्लेख करते हुए कहा कि इसके जरिए विज्ञान की दुनिया के रहस्यों से रुबरु होने का मौका मिलेगा इसके साथ ही तारामंडल-आकाशमंडल-सनशाइन गैलेरी के बारे में दृश्यात्मक जानकारी मिलेगी।

इससे पहले माहेश्वरी एवं देवनानी ने महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय परिसर में 429 लाख रुपए की लागत से बने नवनिर्मित (अमृतायन भवन) का उद्घाटन किया। इस अवसर पर कार्यवाहक कुलपति प्रो. कैलाश सोढानी मौजूद थे।