केन्द्रीय अल्पसंख्यक मामलात मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने दी सौगातें

अजमेर। केन्द्रीय अल्पसंख्यक मामलात मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि सूफी संत ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती के 806वें सालाना उर्स में जायरीन को अधिक से अधिक सुविधाएं मिलें, इसके प्रयास किए जाएंगे।

केन्द्रीय अल्पसंख्यक मामलात मंत्री ने सोमवार को अजमेर के कायड़ विश्राम स्थली पर मौलाना आजाद शिक्षा प्रतिष्ठान में शिक्षा सुविधा केन्द्र एवं सौ शौचालयों का लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि गरीब नवाज ने हमें भाई चारे का संदेश दिया। उसी अनुरूप हमें भाई चारे एवं मोहब्बत के साथ चलना चाहिए। गरीब नवाज ने मानवता की सेवा के लिए जो कार्य किए वह भविष्य की पीढ़ियों के लिए प्रेरणा बनी रहेगी।

उन्होंने कहा कि शिक्षा सुविधा केन्द्र में स्कील डवलपमेन्ट, स्वरोजगार एवं शिक्षा से जूड़े कार्यक्रमों का प्रशिक्षण दिया जाएगा। ये कार्य सिर्फ उर्स तक ही नहीं वरन् उर्स के बाद भी स्कील डवलपमेन्ट की गतिविधियों को यहां संचालित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि बाहर से लाखों जायरीन यहां प्रतिवर्ष आते है ऎसे में यहां उन्हें मूलभूत सुविधाएं मिलें इसके लिए आज एक सौ शौचालयों का भी निर्माण का लोकार्पण किया जा रहा है। यहां पानी की कठिनाई नहीं हो, इसके लिए शीघ्र ही एक पानी की बड़ी टंकी का निर्माण भी कराया जाएगा। इस प्रकार के विकास कार्य यहां सतत रूप से जारी रहेंगे ताकि जायरीन को किसी प्रकार की कोई कठिनाई नहीं हों।

केन्द्रीय अल्पसंख्यक मामलात मंत्री ने इस मौके पर दरगाह नाजिम आईबी पीरजादा सहित अन्य सदस्यों एवं जिला कलक्टर गौरव गोयल एवं जिला पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र सिंह के साथ बैठक कर उर्स में की गई प्रशासनिक व्यवस्थाओं की जानकारी प्राप्त की।

बैठक में कायड विश्राम स्थली पर पेयजल सुविधा के लिए पानी की टंकी निर्माण कार्य, दरगाह में मुसाफिरखाना एवं खादिमों के लिए समान स्थान के संबंध में भी चर्चा की गई। इस मौके पर संबंधित प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।