पद्मश्री उद्धव भराली पर लगा पोक्सो, न्यायिक हिरासत में भेजा गया

गुवाहाटी। पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित उद्धव भराली ने शुक्रवार को एक नाबालिग के साथ कथित छेड़छाड़ से संबंधित मामले में ज़मानत याचिका खारिज होने के बाद गुवाहाटी उच्च न्यायालय के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। भराली पर अपनी देखभाल के अधीन एक बालिका के शोषण का आरोप है।

भराली ने असम के लखीमपुर के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में आत्मसमर्पण किया। अदालत ने उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है।

पुलिस ने एक मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की शिकायत के आधार पर भारतीय दंड संहिता और पोक्सो अधिनियम की धाराओं के तहत उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी, जिसके बारे में लखीमपुर के जिला कानूनी सेवा प्राधिकरण (डीएसएलए) ने 17 दिसंबर को जानकारी दी थी। भराली ने कहा है कि उन्हें इस मामले में फंसाया गया है और वह इंसाफ़ के लिए लड़ेंगे।