बारिश से अजमेर जिला तरबतर, आनासागर में 12 फीट पानी

अजमेर। राजस्थान में अजमेर जिले में इन्द्र देवता की मेहरबानी से जिले के लगभग सभी जलाशयों में जलस्तर में बेतहाशा वृद्धि हो रही है। आधिकारिक सूत्रों ने आज बताया कि पिछले चौबीस घंटे से तेज बारिश के दौर के चलते बीसलपुर बांध में भी तेजी से आवक हुई है।

अजमेर संभाग के देवली स्थित बीसलपुर बांध का जलस्तर रविवार सुबह छह बजे तक 309.42 आर.एल. मीटर तक पहुंच गया है। बरसात का दौर जारी है। इसके चलते बीसलपुर बांध के अभियंताओं को भी पानी के आवक की उम्मीद बंधी है।

त्रिवेणी का गेज भी 290 चल रहा है। बांध की कुल भराव क्षमता 315.50 है। उम्मीद है कि मानसून के इस दौर में बीसलपुर बांध पूरा भरेगा और पूरे साल पीने के पानी की किल्लत नहीं होगी।

पुष्कर सरोवर में 10 फीट पानी आया

अजमेर में भी पिछले चौबीस घंटे से खबर लिखे जाने तक बरसात का दौर जारी है और मौसम विभाग ने अगले दो दिन भारी बारिश की चेतावनी दी है। पिछले चौबीस घंटे में ऐतिहासिक आनासागर झील का जलस्तर 12 फीट तक पहुंच गया है। हालांकि जिला कलेक्टर के निर्देश पर एक हफ्ते पहले ही दो इंच पानी निकालकर जलस्तर कम किया गया था, लेकिन बरसात के चलते धीरे धीरे जलस्तर बढ़ रहा है।

कमोबेश अजमेर जिले में तीन इंच से ज्यादा बरसात हुई है। इसे देखते हुए फाईसागर झील, पुष्कर सरोवर, किशनगढ़ का हमीर तालाब, बीर तालाब, नसीराबाद तालाब में जलस्तर बढ़ा है। पवित्र पुष्कर सरोवर में जलस्तर बढ़कर दस फीट तक पहुंचा है।

निचली बस्तियां जलमग्न

अजमेर में लगातार हो रही बारिश के चलते अनेक निचली बस्तियां जलमग्न हुई हैं। जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय के अनेक वार्डों में पानी भरा है। आनासागर के चहुंओर बसी कॉलोनियों खासकर मानसरोवर में भी पानी ने अपना रंग दिखाया है। स्मार्ट सिटी के तहत चलाए जा रहे एलीवेटेड रोड के काम एवं अन्य कामों के लिए खोदी गई सड़कों पर इसी हफ्ते पेचवर्क कराया गया था, लेकिन यह पेचवर्क इतना घटिया और हल्का है कि महावीर सर्किल से मार्टिंडल ब्रिज के बीच सड़कों से पेचवर्क पूरी तरह उधड़ गया है। मुख्य स्टेशन रोड खड्डों से सराबोर है।
उधर अवकाश के दिनों को देखते हुए लोग पिकनिक स्थलों की ओर रुख कर रहे हैं।