राजस्थान में सत्तर हजार से अधिक शिक्षकों के पद रिक्त

जयपुर। राजस्थान में शिक्षकों के सत्तर हजार से अधिक पद रिक्त है। शिक्षा राज्य मंत्री गोविन्द डोटासरा ने आज विधानसभा में प्रश्नकाल में विधायक मीना कंवर के मूल प्रश्न के जवाब में यह जानकारी दी। डोटासरा ने बताया कि राज्य में शिक्षकों के कुल चार लाख 49 हजार 245 स्वीकृत पद है जिनमें 70 हजार 993 पद रिक्त है।

उन्होंने प्रदेश में शिक्षकों के स्वीकृत एवं रिक्त पदों का श्रेणीवार विवरण देेते हुए बताया कि राज्य में प्रधानाचार्य के 10 हजार 847 स्वीकृत पदों में से 685 रिक्त पद है तथा प्रधानाध्यापक एवं समकक्ष के 3650 स्वीकृत पदों में 967 पद रिक्त है। उन्होंने बताया कि व्याख्याता स्कूल शिक्षा एवं समकक्ष के राज्यभर में 52 हजार 699 स्वीकृत पदों में 10 हजार 965 पद खाली है तथा शारीरिक शिक्षा ग्रेड- प्रथम के 265 स्वीकृत पदों में 229 पद रिक्त है।

उन्होंने बताया कि कोच एवं समकक्ष के 40 स्वीकृत पदों में 13 पद रिक्त तथा अध्यापक श्रेणी द्वितीय/ वरिष्ठ अध्यापक के 91 हजार 150 स्वीकृत पदों में 21 हजार 755 पद रिक्त है। उन्होंने बताया कि शारीरिक शिक्षक द्वितीय ग्रेड के 3 हजार 374 पदों में 654 पद तथा तृतीय श्रेणी अध्यापक लेवल-प्रथम एवं समकक्ष के एक लाख 62 हजार 451 स्वीकृत पदों में 17 हजार 966 पद रिक्त है।

उन्होंने बताया कि तृतीय श्रेणी अध्यापक लेवल-द्वितीय एवं समकक्ष के एक लाख 5 हजार 130 स्वीकृत पदों में 13 हजार 527 पद रिक्त है तथा शारीरिक शिक्षक तृतीय ग्रेड एवं समकक्ष के 19 हजार 639 स्वीकृत पदों में 4 हजार 232 पद खाली है।

डोटासरा ने गत पांच वर्षो में शिक्षकों की भर्ती के लिए जारी विज्ञापन, प्रदत्त नियुक्तियों का श्रेणीवार एवं वर्षवार संख्यात्मक विवरण प्रारम्भिक शिक्षा तथा माध्यमिक शिक्षा का विवरण सदन के पटल पर रखा।