किसान आंदोलन से प्रदेश की अधिकांश सब्जी मंडियों में सन्नाटा

किसान आंदोलन से प्रदेश की अधिकांश सब्जी मंडियों में सन्नाटा
किसान आंदोलन से प्रदेश की अधिकांश सब्जी मंडियों में सन्नाटा

जयपुर | विभिन्न किसान संगठनों के आन्दोलन के चलते आज चौथे दिन प्रदेश की अधिकांश सब्जी मंडियों में सन्नाटा फैलता जा रहा है वहीं आम उपभोक्ताओं की सब्जी महंगी होने से मुसीबतें बढ़ गयी है। किसानों की गांव बंदी की आड़ में उत्पातियों द्वारा जबरन तनाव फैलाया जा रहा है जिसके मद्देनजर पुलिस को भी सख्ती करनी पड़ रही है।

प्रदेश की मंडियों में आवक कम होने से सब्जियों के भावों में जबर्दस्त उछाल आ गया है वहीं दूध की आपूर्ति गड़बड़ाने से अब बूथों पर दूध की किल्लत होने लग गई है। जयपुर डेयरी को दूध आपूर्ति में काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। किसानों के आंदोलन का असर अब चुरू के सादुलपुर, बांरा और अन्य इलाकों में फैल गया है जिसके तहत वहां पर भी जगह जगह सड़कों पर दूध को बिखेरा गया और सब्जियां फैंकी गयी।

सब्जियों की आवक नहीं होने से आमतौर पर हर समय व्यस्त रहने वाली राजधानी की प्रमुख मुहाना मंडी,सहित लाल कोठी और परकोटे के भीतर की मंडियों में सन्नाटा व्याप्त हो गया है। मंडियों में आ रही कुछ सब्जियों के कारण दामों में पचास प्रतिशत से अधिक की बढोतरी हो गयी है।

किसान आंदोलन का सर्वाधिक असर बीकानेर संभाग के श्रीगंगानगर में हो रहा है जहां किसान आंदोलन के नाम पर कुछ उत्पातियों द्वारा मंडियों में सब्जी पहुंचाने वाले किसानों के साथ हाथापायी किये जाने के समाचार मिले है। इन घटनाओं को रोकने के लिये अब पुलिस भी आंदोलनकारियों के खिलाफ सख्ती करने लग गई है। पुलिस ने श्रीगंगानगर , बीकानेर सहित कुछ स्थानों पर आंदोलनकारी किसानों के खिलाफ मामला भी दर्ज किया है।