मुरादाबाद में दो बच्चों की गर्दन रेत मां ने किया आत्महत्या का प्रयास

मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद के कटघर क्षेत्र में शनिवार को आर्थिक तंगी से त्रस्त विवाहिता ने अपने दो मासूम बेटों की गर्दन रेतने के बाद आत्महत्या का प्रयास किया।

इस लोमहर्षक घटना में चार वर्षीय छोटे बेटे की मौके पर मौत हो गई, जबकि छह वर्षीय बेटे की हालत गंभीर बनी हुई है। घायल महिला और उसके बेटे को दिल्ली रोड स्थित टीएमयू अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पुलिस अधीक्षक (नगर)अमित आनंद ने शनिवार को बताया कि घोसीपुरा निवासी चंद्रपाल का पुत्र देवेंद्र पीतल फर्म में पैकिंग का ठेकेदार है। परिवार में देवेंद्र की पत्नी प्रीति (20) के अलावा दो बेटे दक्ष (6) और आदर्श उर्फ नक्ष (4) माँ मुन्नी देवी तथा भाभी साथ में रहते हैं।

उन्होंने बताया कि प्रथम दृष्टया छानबीन में पता लगा कि देवेंद्र को फर्म से समय पर पैसा नहीं मिलता है। इसी को लेकर पति पत्नी के बीच अक्सर कलह होती रहती है। प्रीति चाहती थी कि उसका पति ठेकेदारी छोड़कर कोई और काम करे, मगर देवेंद्र इसके लिए तैयार नहीं था। इसी बात को लेकर शनिवार को भी उनके बीच विवाद हुआ था।

गृहक्लेश के चलते प्रीति ने गुस्से में आकर अपने दोनों बेटों की चाकू से गर्दन रेत दी। इस घटना में आदर्श की मौके पर ही मौत हो गई जबकि दक्ष गंभीर रूप से घायल हो गया। इसके बाद महिला ने अपनी गर्दन पर भी चाकू मारकर आत्महत्या का प्रयास किया।

पुलिस ने मौके पर पहुंच कर घायलावस्था में प्रीति व उसके बड़े बेटे दक्ष को पाकबड़ा स्थित टीएमयू में भर्ती कराया गया है, जहां दोनों की हालत गंभीर बनी हुई है। पुलिस अधीक्षक नगर ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया और फोरेंसिक टीम को भी पड़ताल में लगाया गया है।