जब मां बनी हैवान, पढें कैसे बची दो बच्चों की जान

श्रीगंगानगर। श्रीगंगानगर जिले के सीमावर्ती केसरीसिंहपुर थाना क्षेत्र में शनिवार को एक चार वर्षीय बालिका ने अपने छोटे भाई को बचा लिया जबकि उसकी मां ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

पुलिस सूत्रों ने आज बताया कि केसरीसिंहपुर की अनाज मंडी में मजदूरी करने वाले लवप्रीत सिंह मजहबी सिख का अपनी पत्नी जसप्रीत कौर (24) से एक अन्य महिला से सम्बन्धों को लेकर अक्सर कहासुनी होती थी। कल शाम को क्रोध में आकर जसप्रीत कौर ने अपनी पुत्री वंश (चार) और पुत्र जश्न (दो) को पानी की टंकी में डाल दिया और खुद रस्सी के फंदे पर झूल गई।

पुलिस ने बताया कि टंकी में पानी कम था, लिहाजा वंश टंकी में खड़ी हो गई और उसने जश्न को डूबने से बचाने के लिए उसे गोद में उठा लिया। कुछ देर बाद अचानक उनका चाचा आ गया और उसने जसप्रीत कौर काे फंदे से लटके देखा तो पड़ाेसियों को बुला लिया।

उन्होंने बच्चों की तलाश की तो पानी की टंकी में वंश अपने भाई जश्न को गोद में लेकर खड़ी मिली। इस पर उन्हें निकालकर तुरंत पुलिस का इत्तिला दी गई। पुलिस मामले की जांच कर रही है।