मेरठ : दोहरा हत्याकांड में 1 अरेस्ट, 5 पुलिसकर्मी निलंबित

Verified Apps to watch T20 World Cup 2022 Live Stream
Mother, son killed in Meerut, 5 cops suspended
Mother, son killed in Meerut, 5 cops suspended

मेरठ। मेरठ के थाना परतापुर क्षेत्र में बुधवार को पुरानी चुनावी रंजिश में दिनदहाड़े एक सपा नेता और उसकी मां की गोलियों से भूनकर हत्या मामले में पुलिस ने गुरुवार को एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। वहीं एसएसपी ने इस मामले में परतापुर थानाध्यक्ष सहित पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है।

परतापुर थाना क्षेत्र में बेखौफ तीन बदमाशों ने पिता की हत्या के चश्मदीद बेटे भोलू (28) पुत्र दिवंगत नरेंद्र सिंह की सड़क पर रास्ता रोक गोलियों से भूनकर हत्या कर दी थी। फिर ग्राम सोरखा स्थित उसके घर पहुंचकर बाहर बैठी मां निछत्तर कौर (60) की भी ताबड़तोड़ गोलियां बरसा कर हत्या कर दी थी। आरोपियों ने मां-बेटे को दर्जन भर से ज्यादा गोलियां मारीं।

दिनदहाड़े हुई दोहरी हत्या की यह वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई, जो थोड़ी देर में वायरल भी हो गई। मारा गया युवक भोलू समाजवादी पार्टी का कार्यकर्ता बताया गया है।

सीसीटीवी और चश्मदीद से मिली जानकारी पर हमलावरों की पहचान में ग्राम सोरखा के ही रहने वाले मांगे उर्फ विनय पुत्र धर्मपाल व उसका भांजा गोलू उर्फ तरुण पुत्र मनवीर सिंह और 1 अन्य व्यक्ति के रूप में हुई थी। इस हत्या के पीछे पुरानी चुनावी रंजिश थी, जिसका शिकार मृतक के पिता नरेंद्र सिंह भी हुए थे।

नरेंद्र सिंह की हत्या वर्ष 2016 के अक्टूबर में मांगे उर्फ विनय के सगे भाई मालू उर्फ सोहवीर ने थी और वह जेल में है। हत्या का यह मामला अदालत में चल रहा है। मारे गए मां-बेटे उस हत्या के चश्मदीद गवाह थे। उनकी गवाही होनी थी, मगर पहले ही दोनों की जान ले ली गई।

दोहरी हत्या के इस मामले में पुलिस ने मांगे, गोलू व एक अन्य के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करते हुए गुरुवार को पुलिस ने इस मामले में नामजद आरोपी मांगे को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं बाकी आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

उधर, इस मामले में लापरवाही बरते पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मंजिल सैनी ने परतापुर थानाध्यक्ष रघुराज सिंह, सीनियर सब इंस्पेक्टर संजय सिंह, घाट पुलिस चौकी के सब इंस्पेक्टर दिलशाद अहम, सिपाही अंकुश कुमार और सिपाही पंकज कुमार को निलंबित कर दिया। इसके साथ ही मृतक के घर पर सुरक्षा की दृष्टि से 1-4 की गार्ड लगा दिए हैं।