एमपी अब बना ‘मैक्जिमम प्रोग्रेस’ राज्य : पीएम मोदी

ग्वालियर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए प्रदेश में चुनाव प्रचार के अपने पहले दिन प्रदेश सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश का मतलब बदल कर अब मैग्जिमम प्रोग्रेस बन गया है।

ग्वालियर में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि एक समय बीमारू रहा राज्य एमपी का मतलब अब भारतीय जनता पार्टी सरकार के समय बदल कर ‘मैग्जिमम प्रोग्रेस’ राज्य हो गया है।

इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि भाजपा नेता विजया राजे सिंधिया को आपातकाल के समय 19 महीने कांग्रेस ने कौन से गुनाह में जेल में डाला। उन्हें यातनाएं क्यों दी गईं। लोकतंत्र के नाम पर उनका गला क्यों घोंटने का प्रयास किया।

इसके पहले शहडोल में सभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि कहा कि जो कांग्रेस संसद में बार-बार कहती है कि वो प्यार की बात करती है, उसे मध्यप्रदेश में गुस्से के सिवा कुछ नहीं आ रहा।

मोदी ने कांग्रेस पर ‘झूठ का कारोबारी’ होने का आरोप लगाते हुए कहा कि सोशल मीडिया और मुख्यधारा के मीडिया के जागरुक होने के कारण अब कांग्रेस का झूठ एक या दो घंटे से ज्यादा समय नहीं चल पाता। नोटबंदी को लेकर भी उन्होंने कांग्रेस पर प्रहार किया। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के कारण कांग्रेस की चार पीढियों से जमा धन नष्ट हो गया, इसी के चलते दो साल बाद भी पार्टी ‘रो’ रही है और संभल नहीं पा रही।

इस आदिवासीबहुल जिले में अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए श्री मोदी ने कहा कि देश के जिन-जिन प्रांतों में आदिवासी ज्यादा हैं, वहां-वहां उन्होंने भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाने में अहम भूमिका निभाई है। उन्होंने इसके लिए महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ और झारखंड का उदाहरण भी दिया।

मोदी ने कहा कि ये चुनाव प्रदेश का भविष्य तय करने के लिए है। जनता कांग्रेस के 50 साल से भी ज्यादा समय के शासनकाल और भाजपा के 15 सालों का परिणाम देख कर मतदान करे। राज्य में 28 नवंबर को मतदान होना है। इसके मद्देनजर दोनों ही दलों के आला नेता चुनाव प्रचार के मैदान में हैं।

नोटबंदी से देश में केवल एक परिवार को हुई परेशानी

अंबिकापुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी को लेकर आज किसी का नाम लिए बिना गांधी परिवार की ओर इशारा करते हुए कहा कि नोटबंदी से देश में किसी को भी कोई समस्या नहीं हुई, जो समस्या हुई वह केवल एक परिवार को हुई है।

मोदी ने छत्तीसगढ के अंबिकापुर में एक चुनावी सभा को संबाेधित करते हुए कहा कि लोगों ने बोरों में भर कर काला धन जमा कर रखा था। नोटबंदी के बाद वो सब बाहर आ गया। देश की जनता को इससे कोई समस्या नहीं हुई। उन्होंने गांधी परिवार की ओर ईशारा करते हुए कहा कि जो समस्या हुई केवल दिल्ली में एक परिवार को हुई। वे अब रट लगाते रहते हैं नोटबंदी-नोटबंदी।

मोदी ने अपने पूरे भाषण के दौरान कांग्रेस पर जमकर हमला किया। उन्होंने कहा कि गांधी परिवार ने केवल परिवारवाद को बढ़ावा दिया है। परिवार के बाहर कभी उनका मुखिया नहीं चुना गया। उन्होंने कहा कि अगर लोकतंत्र में श्रद्धा है तो चाय वाले का प्रधानमंत्री बनने का यश न मोदी को जाता है और न ही भाजपा को जाता है, उसका यश देश की जनता को जाता है।

मोदी ने कहा कि कांग्रेस एक चायवाला प्रधानमंत्री बन गया इसके लिए 125 करोड़ लोगों को श्रेय देने को तैयार नहीं है। ये उनकी अलोकतांत्रिक मानसिकता का परिणाम है, जो उन्हें नेहरू जी को ही श्रेय देने का मन करता है।

मोदी ने चुनौती देते हुए कहा कि कांग्रेस का मानना है कि पंडित नेहरू के कारण ही एक चाय वाला पीएम बना है, तो एक काम कीजिए पांच साल के लिए परिवार के बाहर के किसी कांग्रेसी को कांग्रेस अध्यक्ष बना दो, तो मैं मान लूंगा कि नेहरू जी के कारण ही कोई आम कांग्रेसी भी कांग्रेस का अध्यक्ष बन पाया।