रिलायंस इंडस्ट्रीज काे दूसरी तिमाही में 2.1 अरब डॉलर का मुनाफा

मुंबई। पेट्रोलियम, दूरसंचार और रिटेल आदि क्षेत्रोें में कारोबार करने वाली देश की सबसे बड़ी निजी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज ने चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 2.1 अरब डॉलर अर्थात 15479 करोड़ रुपये का सकल शुद्ध लाभ अर्जित किया है जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि की तुलना में 46 प्रतिशत अधिक है।

कंपनी के निदेशक मंडल की बैठक के बाद जारी तिमाही वित्तीय लेखा जोखा में कहा गया है कि कंपनी के हर क्षेत्र के कारोबार का प्रदर्शन बेहतर रहा है। इसके बाद पर मुनाफे में यह बढोतरी हुई है। कंपनी की डिजिटल सेवाओं का राजस्व पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के राजस्व की तुलना में 7.4 प्रतिशत बढ़कर 24362 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इसी तरह से रिलायंस रिटेल का राजस्व भी इस अवधि में 10.5 प्रतिशत बढ़कर 45450 करोड़ रुपए हो गया।

कंपनी ने कहा कि इस तिमाही में उसका सकल राजस्व 68.8 प्रतिशत बढ़कर 108750 करोड़ रुपए पर पहुंच गया है। सितंबर में समाप्त तिमाही में कंपनी ने 59 प्रतिशत अधिक 54844 करोड़ रुपए अर्थात 7.4 अरब डॉलर का निर्यात किया है।

कंपनी ने कहा कि रिलायंस जियो ने इस तिमाही में 15.2 प्रतिशत अधिक 23222 करोड़ रुपये का राजस्व अर्जित किया है और उसने 23.5 प्रतिशत अधिक 3728 करोड़ रुपये का लाभ कमाया है। 30 सितंबर तक रिलायंस जियों के ग्राहकों की संख्या 42.95 करोड़ पर पहुंच गयी और इस दौरान उसने 2.38 करोड़ नये ग्राहक जोड़े हैं1 दूसरी तिमाही में कंपनी के 23 अरब जीबी डेटा का ट्रैफिक रहा है।

रिलायंस रिटेल का राजस्व 10.5 प्रतिशत बढ़कर 45426 करोड़ रुपए पर पहुंच गया और इस कारोबार का मुनाफा 74.2 प्रतिशत की बढ़त के साथ 1695 करोड़ रुपए पर रहा। पूरे देश में कंपनी के 13635 स्टोर चल रहा है और इस तिमाही में 813 स्टोर शुरू किए गए हैं।

कंपनी के प्रदर्शन पर उसके अध्यक्ष मुकेश अंबानी ने दिवाली की शुभकामनायें देते हुये उम्मीद जतायी कि कोरोना महामारी को हम जल्द ही दूर छोड़ देंगें। उन्होंने कहा कि सभी क्षेत्रों के उत्पादों की मांग में तीव्र सुधार हुयी है जिससे कंपनी का प्रदर्शन सुधरा है। उन्होंने कहा कि रिलायंस का दूसरी तिमाही में प्रदर्शन बहुत ही उत्साहवर्धक रहा है। अब उनकी कंपनी का कारोबार कोरोना के पूर्व स्तर पर पहुंचने लगा है।

अंबानी ने कहा कि उनकी कंपनी वर्ष 2035 तक कार्बन शून्य उत्सर्जन की ओर बढ़ रही है और इस महत्वकांक्षी लक्ष्य को हासिल किया जाएगा।