भिनाय के पास बड़गांव में जल स्वावलम्बन अभियान के तहत श्रमदान

अजमेर। अजमेर जिले के प्रभारी मंत्री हेमसिंह भड़ाना ने कहा कि मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान पानी की कमी से जूझते राजस्थान के लिए एक वरदान है। अभियान के पहले दो चरणों ने शानदार सफलता हासिल की है। पूरे देश में राजस्थान के इस अभियान की प्रशंसा हो रही है। अभियान के कारण प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में भूजल स्तर एवं कृषि बुवाई क्षेत्र में अभूतपूर्व वृद्धि हुई है।

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत जिला स्तरीय श्रमदान, विभिन्न जलग्रहण संस्थाओं का लोकार्पण एवं दानदाताओं का सम्मान समारोह मंगलवार को भिनाय पंचायत समिति के बड़गांव में संपन्न हुआ।

कार्यक्रम में प्रभारी मंत्री भड़ाना ने कहा कि राजस्थान एक ऎसा प्रदेश है जहां वर्षा अनियमित रहती है। सदियों से हमारे पूर्वज कुएं, बावड़ी, तालाब आदि बनाते रहे हैं ताकि वर्षा का जल संचित किया जा सके। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने इसी अभिनव सोच को आगे बढ़ाते हुए मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान शुरू किया है। इस अभियान को आमजन से जोड़कर उनकी सहभागिता सुनिश्चित की गई है ताकि वे अपने खेत, गांव या ढाणी में बनी जल सरंचना से स्वयं जुड़ाव महसूस करें।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के शानदार परिणाम मिले हैं। राजस्थान में इस अभियान के पहले दो चरणों के बाद भूजल स्तर और कृषि बुवाई क्षेत्र में बढ़ोतरी हुई है। जिन क्षेत्रों में जल सरंचनाओं का निर्माण हुआ वहां कुओं के जल स्तर में भारी बढ़ोतरी हुई है। अभियान ग्रामीण क्षेत्रों में खुशहाली लाने वाला सिद्ध हो रहा है।

भड़ाना ने कहा कि हम सभी का दायित्व है कि अपने क्षेत्र में इस अभियान में से जुड़ें और इसे सफल बनाएं। जन सहभागिता किसी भी अभियान और योजना की सफलता के लिए आवश्यक है। उन्होंने अभियान में सहयोग करने वाले दानदाताओं का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि वे अन्य लोगों को भी अभियान को सफल बनाने के लिए प्रेरित करें।

भाजपा नेता भंवरसिंह पलाड़ा ने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की अभिनव सोच से निकला यह अभियान शानदार सफलता अर्जित कर रहा है। मसूदा विधानसभा क्षेत्र में जिले में सबसे ज्यादा जल स्वावलंबन अभियान के कार्य हुए हैं। क्षेत्र के गांवों में भूजल स्तर में बढ़ोतरी हुई है।

इससे पूर्व कार्यक्रम स्थल पर श्रमदान में सैंंकड़ों लोगों ने उत्साह पूर्वक श्रमदान किया। प्रभारी मंत्री भड़ाना, भंवर सिंह पलाड़ा, कलक्टर आरती डोगरा, अतिरिक्त जिला कलक्टर कैलाशचंद शर्मा, जिला परिषद सीईओ अरूण गर्ग, मंडल वन अधिकारी अजय चित्तौड़ा, एसीईओ भगवत सिंह राठौड़ सहित बड़ी संख्या में राजस्थान पुलिस, हाड़ी रानी बटालियन, नेहरू युवा केन्द्र, आरएसी, भारत विकास परिषद, जिला प्रशासन के अधिकारियों और ग्रामीणों ने श्रमदान किया।

कार्यक्रम में करीब चालीस सें अधिक दानदाताओं का सम्मान किया गया। जिला परिषद के सीईओ अरूण गर्ग ने अभियान की प्रगति से अवगत कराया। भिनाय उपखण्ड अधिकारी राजेन्द्र सिंह ने आभार व्यक्त किया। ग्रामीणों को जल संरक्षण की शपथ दिलाई गई। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।