गोरखपुर में 393 बेटियों की भरी मांग, 11 का हुआ निकाह

गोरखपुर। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अंतर्गत गाेरखपुर में आयोजित भव्य समारोह में 404 बेटियों ने एक साथ गृहस्थ जीवन में प्रवेश किया।

सामूहिक विवाह के अंतर्गत स्थानीय ब्रह्मलीन महंत दिग्विजयनाथ स्मृति पार्क में आयोजित विवाह समारोह में 393 बेटियों का कन्यादान अग्नि के समक्ष सप्तपदी एवं सिंदूरदान आयोजित कर विवाह संपन्न हुआ। वहीं, 11 बेटियों का निकाह मुस्लिम समाज की परम्पराओं के मुताबिक मौलाना ने कराया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशानुसार सामूहिक विवाह समारोह में आशीर्वाद देने के लिए जनप्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारी मेजबान की भूमिका में उपस्थित रहे। वर वधू के साथ दोनों पक्ष से आमंत्रित लोगों का सहभोज भी आयोजित हुआ।

वैदिक मंत्रोच्चार के बीच महराजगंज से आए छह पुरोहितों ने सामूहिक रूप से सनातन धर्म के मुताबिक वैवाहिक अनुष्ठान पूर्ण कराया। इस मांगलिक आयोजन में सामान्य वर्ग की चार बेटियां, पिछड़ी जाति की 113, अनुसूचित जाति की 276 और अल्पसंख्यक मुस्लिम वर्ग की 11 बेटियों का विवाह सम्पन्न हुआ। कुछ परिवार यहां वैवाहिक गीत गाते हुए कार्यक्रम स्थल पर आए तो कुछ कार्यक्रम स्थल से ही अपनी बहू को विदा कर गांव ले गए।

नवयुगलों को आशीर्वाद देने के लिए जनप्रतिनिधियों के साथ अन्य प्रशासनिक अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे। निकाह की प्रक्रिया पूर्ण कराने के लिए मौलाना रियाजुद्दीन, मुफ्ती अजहर शम्सी, मुफ्ती मेराज अहमद मौजूद रहे। उन्होंने सभी का निकाह सम्पन्न कराने के बाद निकाहनामा भी तत्काल तैयार किया।

लोक गायक प्रमोद कुमार यादव एवं उनकी संस्था दर्पण एण्ड पार्टी के कलाकारों ने बिरहा और पारम्परिक लोक गायन से सामूहिक विवाह समारोह के माहौल को उल्लास एवं उत्साह से भर दिया। घराती एवं बारातियों ने लोक गायन का आनंद उठाया।

उधर, वैवाहिक समारोह की ड्रोन कैमरों से फोटोग्राफी भी कराई गई। वर और वधू पक्ष के लोगों ने भी कार्यक्रम के फोटोग्राफ लिए एवं सेल्फी प्वाइंट पर सेल्फी लेकर इस आयोजन को यादों में संजो लिया।