मुंबई के साकीनाका रेप, हत्या मामले की जांच एसआईटी करेगी

मुंबई। मुंबई पुलिस ने शनिवार को मुंबई में साकीनाका दुष्कर्म और हत्या मामले की तहकीकात के लिए एक विशेष जांच दल गठित किया।

मुंबई पुलिस आयुक्त हेमंत नागराले ने संवाददाताओं को बताया कि उन्होंने कहा कि एसआईटी के गठन के साथ ही मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने फास्ट ट्रैक कोर्ट स्थापित करने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने कहा कि दुर्भाग्य से आज सुबह इलाज के दौरान पीड़िता की मौत हो गई और पुलिस ने धारा 307 को 302 में बदल दिया है। उन्होंने कहा कि जांच से पता चला कि इसमें केवल एक व्यक्ति शामिल है और उसे गिरफ्तार कर 21 सितंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।

उद्धव ठाकरे ने की बलात्कार-हत्या कांड की निंदा

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शनिवार को मुंबई के साकीनाका में एक महिला के साथ बलात्कार और उसकी हत्या को ‘मानवता पर धब्बा’ करार दिया और मामले में तेजी से सुनवाई का भराेसा दिया। उन्होंने कहा कि दोषी को कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी।

ठाकरे ने एक बयान में कहा कि मामले की सुनवाई तेजी से की जाएगी और पीड़िता को न्याय मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने राज्य के गृह मंत्री दिलीप वल्से पाटिल और मुंबई के पुलिस आयुक्त हेमंत नागराले के साथ मामले पर चर्चा की है।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने कहा है कि संबद्ध अधिकारियों को मामले की जांच में तेजी लाने का निर्देश दिया गया है। साकीनाका में सड़क के किनारे खड़े एक वाहन में महिला के साथ दुष्कर्म और क्रूरता करने के साथ महिला को पीटने के एक दिन बाद शनिवार की तड़के मुंबई के एक अस्पताल में 32 वर्षीय महिला की मौत हो गई। इस सिलसिले में एक 45 वर्षीय व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है।

मुंबई : दुष्कर्म पीड़ित 32 वर्षीय महिला की अस्पताल में मौत