महँगाई बढ़ने, औद्योगिक उत्पादन गिरने से शेयर बाजार फिसला

Sensex drops 416 points in domestic stock market pressure on selling
Mumbai stock market declines due to falling industrial production

मुंबई। वैश्विक स्तर से मिले कमजोर संकेतों के साथ ही घरेलू स्तर पर इस वर्ष जनवरी में खुदरा महँगाई के बढ़कर छह वर्ष के उच्चतम स्तर पर पहुँचने और दिसंबर 2019 में औद्योगिक उत्पादन सूचकांक में गिरावट आने का असर गुरुवार को शेयर बाजार पर दिखा। इसके कारण बीएसई का सेंसेक्स 106 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 27 अंक उतर गया।

बीएसई का सेंसेक्स 106.11 अंक उतरकर 41,459.79 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 26.55 अंक फिसलकर 12,174.65 अंक पर रहा। बीएसई में दिग्गज कंपनियों की तुलना में मझौली कंपनियों में बिकवाली का दबाव कुछ कम रहा जिससे बीएसई का मिडकैप 0.01 प्रतिशत उतरकर 15,786.76 अंक पर रहा जबकि स्मॉलकैप 0.07 प्रतिशत चढ़कर 14,741.72 अंक पर पहुँच गया।

बीएसई के अधिकांश समूह गिरावट में रहे जिसमें बैंकिंग में सबसे अधिक 0.94 प्रतिशत की कमी आयी। बढ़त में रहने वाले समूहों में स्वास्थ्य 1.06 प्रतिशत, आईटी 0.88 प्रतिशत, सीडी 0.95 प्रतिशत और टेक 0.81 प्रतिशत शामिल है। बीएसई में कुल 2,643 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिसमें से 1,424 लाल निशान में और 1,059 हरे निशान में रहीं जबकि 160 में कोई बदलाव नहीं हुआ।

विदेशों से कमजोर संकेत मिले। अमेरिका के लगभग सभी प्रमुख सूचकांक हरे निशान में खुले। यूरोप और एशिया के प्रमुख सूचकांकों पर दबाव देखा गया। ब्रिटेन का एफटीएसई 1.33 प्रतिशत, जापान का निक्की 0.14 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसेंग 0.34 प्रतिशत, दक्षिण कोरिया का काेस्पी 0.24 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.71 प्रतिशत उतर गया जबकि जर्मनी का डैक्स 0.89 प्रतिशत चढ़ गया।

बीएसई का सेंसेक्स 142 अंकाें की बढ़त लेकर 41,707.21 अंक पर खुला और शुरुआती कारोबार में ही लिवाली के बल पर 41,709.30 अंक के उच्चतम स्तर तक चढ़ा। इसके बाद शुरू हुई बिकवाली अंतिम सत्र तक बनी रही और इस दौरान यह 41,338.31 अंक के निचले स्तर तक फिसल गया। अंत में पिछले दिवस के 41,565.90 अंक की तुलना में 106.11 अंक अर्थात 0.26 प्रतिशत उतरकर 41,459.79 अंक पर रहा।

एनएसई का निफ्टी 18 अंकों की तेजी लेकर 12,219.35 अंक पर खुला और लिवाली के बल पर 12,225.65 अंक के उच्चतम स्तर तक गया। इसके बाद बिकवाली के कारण यह 12,139.80 अंक के निचले स्तर तक उतरा। अंत में यह पिछले सत्र के 12,201.20 अंक की तुलना में 0.22 फीसदी अर्थात 26.55 अंक गिरकर 12,174.65 अंक पर रहा। निफ्टी में शामिल 50 कंपनियों में से 29 गिरावट लेकर जबकि 21 बढ़त बनाकर बंद हुये।

सेंसेक्स में गिरावट में रहने वालों में इंडसइंड बैंक 3.68 प्रतिशत, एनटीपीसी 1.71 प्रतिशत, टाटा स्टील 1.57 प्रतिशत, आईसीआईसीआई बैंक 1.51 प्रतिशत, कोटक बैंक 1.44 प्रतिशत, एचडीएफसी 1.37 प्रतिशत, ओएनजीसी 1.31 प्रतिशत, एक्सिस बैंक 1.20 प्रतिशत, एशियन पेंट्स 0.95 प्रतिशत, एचडीएफसी बैंक 0.63 प्रतिशत, मारुति सुजुकी 0.59 प्रतिशत, हीरो मोटोकॉर्प 0.57 प्रतिशत, आईटीसी 0.49 प्रतिशत, एचसीएल टेक्नोलॉजीज 0.37 प्रतिशत, एलएंडटी 0.36 प्रतिशत और बजाज ऑटो 0.04 प्रतिशत शामिल है।

बढ़त में रहने वालों में टाइटन 2.37 प्रतिशत, स्टेट बैंक 2.33 प्रतिशत, इंफोसिस 1.45 प्रतिशत, सन फार्मा 1.12 प्रतिशत, टेक महिंद्रा 0.98 प्रतिशत, टीसीएस 0.97 प्रतिशत, हिन्दुस्तान यूनिलिवर 0.83 प्रतिशत, नेस्ले इंडिया 0.58 प्रतिशत, बजाज फाइनेंस 0.55 प्रतिशत, पावरग्रिड 0.53 प्रतिशत, महिंद्रा एंड महिंद्रा 0.43 प्रतिशत, रिलायंस इंडस्ट्रीज 0.27 प्रतिशत, एयरटेल 0.05 प्रतिशत और अल्ट्राटेक सीमेंट 0.04 प्रतिशत शामिल है।