म्यूनिसिपल परफॉर्मेंस इंडेक्स में एनडीएमसी अव्वल

नई दिल्ली। नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (एनडीएमसी) को म्यूनिसिपल परफॉर्मेंस इंडेक्स (एमपीआई) 2020 के लिए केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय ने आज राष्ट्रीय स्तर पर दस लाख से कम जनसंख्या वाले शहरों में सर्वप्रथम घोषित किया।

केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री ने आज शहरी जीवन को सुगम बनाने और नगर निकायों के प्रदर्शन सूचकांक 2020 के परिणाम घोषित किए। एनडीएमसी को शहरी जीवन को सुगम बनाने और नगर निकाय प्रदर्शन सूचकांक में राष्ट्रीय स्तर पर दस लाख से कम जनसंख्या श्रेणी के तहत सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली सर्वप्रथम नगर पालिका घोषित किया गया है।

केंद्रीय शहरी मंत्रालय की घोषणा के बाद एनडीएमसी के अध्यक्ष धर्मेंद्र ने कहा कि एनडीएमसी, नगर निकायों के प्रदर्शन सूचकांक के 2019 में शुभारंभ होने के बाद से इसके सभी पांच सेटों में भाग ले रही है, जो सेवा, वित्त, योजना, प्रौद्योगिकी और प्रशासन हैं।

उन्होंने कहा कि पालिका परिषद का प्रयास हमारे नागरिकों को जीवन की उत्कृष्ट गुणवत्ता प्रदान करने और सुधारने का रहा है। एमपीआई में सुधार के लिए सक्रिय भागीदारी ने पालिका परिषद क्षेत्र में नगरपालिका सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार करने और उन्हें बेहतर बनाने के लिए अच्छी अंतर्दृष्टि और सीखने के अवसर प्रदान किए हैं।

2019 में 65वें स्थान को प्राप्त करने वाली एनडीएमसी ने इस वर्ष पूरे देश मे सर्वप्रथम स्थान ग्रहण करके उन्नति का शिखर छू लिया है। धर्मेंद्र ने बताया कि नागरिक सेवाओं और प्रशासन के क्षेत्र में पालिका परिषद ने एक समान, गैर-विवेकाधीन सेवाएं प्रदान करने में दक्षता और प्रभावशीलता में सुधार के लिए और पारदर्शी तरीके से ई-गवर्नेंस और एम-गवर्नेंस को मजबूत करने के लिए प्रौद्योगिकी हस्तक्षेप के माध्यम से कई सूचना प्रौद्योगिकी आधारित पहल की हैं।

एनडीएमसी के 311 मोबाइल ऐप, ऑनलाइन बिल ट्रैकिंग सिस्टम, सार्वजनिक शौचालयों में क्यूआर आधारित प्रतिक्रिया तंत्र कुछ ऐसी नई पहल हैं। पालिका परिषद ने नागरिक सेवाओं से संबंधित सभी रिकॉर्डों को डिजिटल कर दिया है।

पालिका परिषद के कर्मचारियों को बधाई देते हुए धर्मेंद्र ने कहा कि इस उपलब्धि का श्रेय सभी कर्मचारियों के प्रयासों को जाता है। उन्होंने इस अवसर पर पालिका परिषद सदस्यों, उपराज्यपाल अनिल बैजल, गृह मंत्रालय और शहरी विकास मंत्रालय के निरन्तर मार्गदर्शन और सहयोग की भी सराहना करते हुए इसे सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली नगर पालिका बनाने के लिए क्षेत्र के निवासियों और आगंतुकों का भी आभार व्यक्त किया।

जीवन सुगमता में बेंगलूरु प्रथम, पुणे द्वितीय, अहमदाबाद तृतीय