मुसलमानों ने भी राम मंदिर समर्पण निधि में सहयोग किया : चंपत राय

अयोध्या। विश्व हिन्दू परिषद के उपाध्यक्ष एवं श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महामंत्री चम्पत राय ने कहा कि श्रीरामजन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण के लिए मुस्लिम समाज ने भी बढ़ चढक़र समर्पण निधि अभियान में सहयोग किया है।

राय ने आज यहां कारसेवकपुरम् में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला का भव्य मंदिर निर्माण के लिए चलाए जा रहे समर्पण निधि अभियान में मुस्लिम समाज के लोगों ने भी सहयोग किया है।

उन्होंने बताया कि समर्पण निधि से आई धनराशि का ऑडिट भी कराया जा रहा है। मंदिर निर्माण के लिए जितना सोचा था उससे चार गुना ज्यादा अकल्पनीय योगदान प्राप्त हुआ है। उन्होंने बताया कि इस विशाल अभियान में एक लाख पचहत्तर हजार टोलियों में लगभग नौ लाख कार्यकर्ताओंने घर-घर जाकर सम्पर्क किया।

अड़तीस हजार एक सौ पचपन कार्यकर्ताओं के माध्यम से समर्पण निधि बैंक में जमा हुई। सम्पूर्ण अभियान की पारदर्शिता बनाए रखने के लिए देश भर में 49 नियंत्रण केन्द्र बनाए गए। उन्होंने बताया कि दिल्ली स्थित मुख्य केन्द्र में दो चार्टेड एकाउंटेटों के नेतृत्व में एकाउंटस की निगरानी हेतु तेईस योग्य कार्यकर्ताओं ने सम्पर्क साध रखा था।

श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महामंत्री ने बताया कि श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला के भव्य मंदिर निर्माण के लिए समर्पण निधि अभियान अब बंद कर दिया गया है, लेकिन बैंकों के खाते में सभी प्रकार के धनराशि हमेशा ट्रांसफर की जा सकती है।

उन्होंने बताया कि देश के हर क्षेत्र में हर प्रकार के लोग मंदिर निर्माण के लिए सहयोग कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि रामजन्मभूमि परिसर में निर्माण के लिए 40 फिट खुदाई कर मिट्टी निकाली जाएगी। उसके बाद उसकी उच्च तकनीकी के मटेरियल से भराई की जाएगी। जिसका तीन सौ एमएम लेयर बनाया जाएगा उसके ऊपर रोलर चलाकर समतलीकरण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि मंदिर के निर्माण में तकनीक का ज्यादा प्रयोग किया जा रहा है।