अयोध्या में मुस्लिम युवकों ने की राममंदिर के पत्थरों की सफाई

Muslims in Ayodhya clean stones and pillars for Ram mandir
Muslims in Ayodhya clean stones and pillars for Ram mandir

अयोध्या। अयोध्या में विवादित जन्मभूमि की सुनवाई सुप्रीमकोर्ट में प्रतिदिन हो रही है वहीं मुस्लिम समुदाय के लोगों ने सोमवार को श्रीरामजन्मभूमि कार्यशाला में मंदिर के लिए तराशे गए पत्थरों की सफाई कर गंगा-जमुनी तहजीब की अनूठी मिसाल पेश की है।

मुस्लिम समाज से आए बब्लू खान ने बताया कि आज सैकड़ों मुस्लिम समुदाय के लोगों ने वर्षों से तराशकर रखे गए पत्थरों में जमी काली काई छुड़ाकर साफ-सफाई की। भगवान श्रीराम सिर्फ हिन्दुओं के ही नहीं बल्कि हमारे भी आराध्य हैं।

यह बात तय है कि अयोध्या में प्रभु श्रीराम की जन्मभूमि है तो फिर विवाद कैसा। वैसे भी इस्लाम में विवादित स्थल पर नमाज पढऩे की अनुमति नहीं है। मुस्लिम समाज के लोग बड़ा दिल करें और राम मंदिर निर्माण में सहयोगी बनें जिससे पूरे विश्व को मानवता का संदेश दिया जा सके।

उन्होंने कहा कि हिन्दुओं को ही नहीं बल्कि हम मुस्लिमों को भी राम मंदिर निर्माण का बेसब्री से इंतजार है। जिस दिन मंदिर निर्माण का कार्य प्रारम्भ होगा,उस दिन से हजारों मुस्लिम भी कारसेवा करेंगे।

बब्लू खान ने कहा कि आज देश प्रधानमंत्री के कुशल निर्देशन में विकास के पथ पर अग्रसर है। ऐसे में अब नफरतों का दौर खत्म होना चाहिए। देश के मुस्लिम कट्टरता का त्याग कर राम मंदिर के समर्थन में आगे आएं। अगर ऐसा हुआ तो अयोध्या से एक बार फिर पूरे विश्व को सौहार्द का संदेश जाएगा।

कार्यशाला में राम मंदिर के पत्थरों की साफ-सफाई करने वालों में मुख्य रूप से खालिक अहमद, गायक समीर खान, आफिस खान, बब्लू मेहंदी, कासिम अली, अदनान खान, रज्जन खान, जमील अहमद, अफजल मेहता, मुन्ना खान, शीबू मिर्जा, सलमान बेग आदि रहे।

इस मौके पर तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ,चौबुर्जी महंत बृजमोहन दास, महंत बलरामदास, राघवेश दास वेदांती और विश्व हिन्दू परिषद के प्रांतीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा मौजूद थे।