दस दिन के मासूम पर बेरहम शासन, बुजुर्ग पर नगर परिषद का सितम

सबगुरु न्यूज, सिरोही। सिरोही में नगर परिषद की अमानवीयता का एक और रूप देखने को मिला। यहां पर राजीव नगर आवासीय काॅलोनी के जिला उद्योग केन्द्र के सामने वाले हिस्से में बसे झोपड पट्टी वालों को बेघर करके दस दिन के मासूम और 75 साल के लाचार बुजुर्ग को भी नहीं बख्शा गया। बाद में पूर्व विधायक संयम लोढा ने मौके पर पहुंचकर नगर परिषद की जेसीबी को हटवाकर, इन लोगों के पुनर्वास तक बेदखल नहीं करने को कहा।

डाबा भीलवाडा क्षेत्र में पिछले तीस-चालीस साल से रह रहे परिवारों पर गुरुवार को नगर परिषद की गाज गिरी। इन लोगों को दो दिन पहले नगर परिषद के कार्मिक धमकाकर गए थे कि दो दिन में इस जगह को खाली नहीं किया गया तो पुलिस और जेसीबी को लाकर इन्हें बेदखल करेंगे।

इनके रहने की कोई जगह नहीं होने से यह लोग दूसरी जगह पर नहीं जा सके। जिस क्षेत्र में इन लोगों ने झोपडी बनाई हुई थी वह हाल ही में राजस्थान हाईकोर्ट के आदेश से सिरोही नगर परिषद को मिली राजीव नगर आवासीय काॅलोनी का हिस्सा है। इस हिस्से की नगर परिषद नीलामी कर रही है। ऐसे में इनको हटाने के लिए कहा गया। नहीं हटने पर गुरुवार को जेसीबी से यहां के झोपडे हटाए गए।

इसकी सूचना मिलने पर पूर्व विधायक संयम लोढा मौके पर पहुंचे। यहां देखा तो नगर परिषद द्वारा दस दिन के बच्चे और उसकी प्रसूता मां और 75 वर्ष के बीमार को भी सर्द हवाओं में बिना छत और दीवार के कर दिया गया था। यह देख उन्होंने नगर परिषद के अमानवीय कृत्य पर रोष जताया। उन्होंने मौके पर ही नगर परिषद के कार्यवाहक आयुक्त से बात की। उनसे कहा कि इन लोगों के पुनर्वास की व्यवस्था होने तक वे इन लोगों को नहीं हटाएं।

sirohi muncipal councile jcb removing encrochment

-एक दिन पहले ही मिले थे लोढा से
दरअसल, यहां रहने वाले परिवार नगर परिषद से बेदखली की मौखिक सूचना मिलने के बाद बुधवार को संयम लोढा से मिलने शिवगंज गए थे। उन्हें अपनी समस्या बताई थी। इस पर लोढा ने नगर परिषद आयुक्त ेसे बात करके इनके पुनर्वास तक बेदखल नहीं करने की बात की थी और आयुक्त दिलीप माथुर ने सबको विश्वास में लेकर काम करने की बात उनसे कही थी, लेकिन इसके विपरीत नगर परिषद के कारिंदे गुरुवार को इन लोगों को बेदखल करने के लिए पंहुच गए।

इसकी सूचना कांग्रेस पार्शद दल के नेता ईष्वर सिंह डाबी, तलसाराम भील से मिलने पर संयम लोढा दोपहर में सीधे ही राजीव नगर आवासीय काॅलोनी पर पहुंचे। मौके पर नगर परिशद के एआरआई सुशील पुरोहित व एसआई प्रवीण माली पहुुंचे। पुरोहित ने अपने मोबाइल से जोधपुर गए परिषद के कार्यवाहक आयुक्त दिलीप माथुर से लोढा की बात करवाई। लोढा ने माथुर से नगर परिशद के अमानवीय व्यवहार पर गहरी नाराजगी जताई और पांच दिन के नवजात व प्रसूता की परवाह किए बिना इंसानियत से परे काम करने पर गुस्सा किया। 75 साल के बिस्तर में पडे बीमार बूढे आदमी को भी हम डरा रहे है।

उन्होंने राज्य सरकार के आदेश के विपरीत काम करने पर नाराजगी जताई। उन्होने कहा कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने गरीबों व निम्न आय वर्ग के लोगों को मकान देने के लिए राजीव गांधी आवास योजना प्रोजेक्ट का धन दिया था, लेकिन आप नीलामी से पैसा कमाने के लिए उन्हें घर से बेघर कर रहे हो। इन परिवारों को यहां तो इसी जगह भूखंड दिया जाए अन्यथा दूसरी जगह भूखंड देकर इनका पुर्नवास किया जाए।
लोढा ने जिला कलेक्टर संदेश नायक से भी दूरभाश पर बातकर परिषद के अमानवीय जनविरोधी कार्य पर गहरी नाराजगी प्रकट की। लोढा ने उन्हें सम्पूर्ण तथ्यों से अवगत कराया। जिला कलेक्टर ने भरोसा दिया कि वो किसी को बेघर नहीं होने देंगे और प्रभावित परिवारांे को भूखंड दिया जाना सुनिष्चित करेंगे।

इस दौरान मौके पर पार्षद गोपीराम, नैनाराम माली, मारूफ हुसैन, पूर्व पार्शद मोहन मेघवाल, अशोक मेघवाल, बालूराम छीपा, शब्बीर कुरैशी, किशन आदि उपस्थित थे।

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए, और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE और वीडियो के लिए विजिट करे हमारा चैनल और सब्सक्राइब भी करे सबगुरु न्यूज़ वीडियो