नागौर के चिन्मय मित्तल ने रुबिक क्यूब में रचा इतिहास

Nagaur boy Chinmaya Mittal makes history in Rubik’s Cube

नई दिल्ली। राजस्थान के एक छोटे से शहर नागौर के चिन्मय मित्तल ने 100 रुबिक क्यूब (मिरर क्यूब) को आंखों पर पट्टी बांध कर मात्र 2 घंटे 41 मिनट में हल कर इतिहास रच दिया है।

पेशे से व्यापारी कैलाश मित्तल के पुत्र और नागौर के विजय मंदिर सैकण्डरी स्कूल की आठवीं कक्षा के छात्र चिन्मय ने यह उपलब्धि मात्र 13 वर्ष की उम्र में इंडिया बुक ऑफ़ रिकार्ड्स के प्रतिनिधि शांतनु के समक्ष प्रदर्शन कर हासिल की। इस रिकॉर्ड को इंडिया बुक ऑफ़ रिकार्ड्स और एशिया बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में एक साथ दर्ज़ किया गया है।

उल्लेखनीय है कि चिन्मय ने 12 दिसम्बर 2017 को सिंगल मिरर क्युब को हल कर रिकॉर्ड भी बनाया था, और इतने कम समय में उन्होंने इतनी बड़ी उपलब्धि हासिल की है। चिन्मय ने 5 अन्य रिकार्ड्स भी बनाए है, जिसे इंडिया बुक ऑफ़ रिकार्ड्स ने अपनी बुक में दर्ज़ किया है।

इंडिया बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में एक अनूठा रिकॉर्ड भी बनाया गया है जोकि मिरर क्यूब को मात्र एक हाथ से हल करना है। यह सभी रिकार्ड्स अनूठे इसलिए भी है क्योंकि चिन्मय ने यह सभी रिकार्ड्स बंद आंखों से बनाए है।