रेप पीडिता की पहचान उजागर करने पर राहुल गांधी के खिलाफ दी शिकायत

जयपुर। राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश मंत्री जितेंद्र गोठवाल ने कहा है कि दुष्कर्म पीड़िता की तस्वीर उजागर करके कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने पीडि़ता और उसके परिवार के साथ अन्याय किया है।

जितेंद्र गोठवाल ने आज कहा कि कांग्रेस बात-बात पर लोकतंत्र और संविधान की दुहाई देती है जबकि उसके आला नेता राहुल गांधी ने कानून का मखौल बनाया है। राहुल गांधी में परिपक्वता की कमी है। सांसद राहुल गांधी ने भारतीय कानून व्यवस्था को ताक पर रखकर यह दिखा दिया है कि वह हर कीमत पर दिखावे की राजनीति करने पर उतर आए हैं और कोई कानून उन पर लागू नहीं होता।

इससे पहले गोठवाल परिवाद दर्ज कराने भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ अंबेडकर सर्किल से अशोक नगर थाने तक पैदल मार्च करके अशोक नगर थाना पहुंचे जहां थानाधिकारी सुरेंद्र यादव ने परिवाद लेने से इन्कार कर दिया। जिस पर उन्होंने और कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी करके विरोध दर्ज कराया और वह कार्यकर्ताओं समेत थाने में धरने पर बैठ गए। काफी जद्दोजहद के बाद थाना अधिकारी ने राहुल गांधी के खिलाफ परिवाद लिया।

उल्लेखनीय है कि दिल्ली के नांगल गांव में दुष्कर्म की शिकार हुई नौ वर्ष की दलित बच्ची के परिवार से मिलने पहुंचे राहुल गांधी ने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करके पीड़िता एवं उसके परिजनों की तस्वीर साझा की जो भारतीय दंड संहिता की धारा 228, पॉक्सो एक्ट की धारा 23 और जुवनाइल जस्टिस एक्ट की धारा 74 का उल्लंघन है। तस्वीर शेयर करने से बच्ची के परिवार वालों की पहचान उजागर हुई है जबकि कानून के मुताबिक किसी नाबालिग दुष्कर्म पीड़िता एवं उनके परिवार वालों की पहचान उजागर नहीं की जा सकती।