चुनावी मनुहार : विधायक देवल का बैंगलोर के प्रवासी बंधुओं को निमंत्रण

जालोर। विधानसभा चुनावों के मद्देनजर रानीवाड़ा विधानसभा क्षेत्र के प्रवासी बन्धुओं को चुनाव में भाग लेने के लिए आमंत्रण देने बैंगलोर पहुंचे रानीवाड़ा विधायक नारायणसिंह देवल का प्रवासियों ने भव्य स्वागत किया।

रानीवाड़ा भाजपा अध्यक्ष उकसिंह परमार, सिलासन व जसवंतपुरा भाजपा महामंत्री दौलतसिंह कलापुरा भी विधायक के साथ रहे। भाजपा युवा मोर्चा आईटी जिला संयोजक नपसाराज ओबातरी ने बताया कि विधायक देवल का लगभग एक सप्ताह से साउथ के प्रमुख शहरों में मौजूद प्रवासी बन्धुओं से मुलाकात एवं उन्हें चुनाव में आमंत्रित करने का दौर चल रहा है।

इसी के तहत शनिवार देर रात श्री राजपूत समाज भवन कोटनपेट बैंगलोर में प्रवासियों की ओर से आयोजित कार्यक्रम में विधायक देवल ने कहा कि बीजेपी की केंद्र एवं राज्य सरकार ने विकास में कोई कमी नहीं रखी है। विधानसभा क्षेत्र रानीवाड़ा में कुछ ऐसे गांव और ढाणियां थीं जहां आजादी के बाद से आज तक बिजली नहीं पहुंची थी। वर्तमान सरकार ने वहां भी बिजली पहुंचाई। जाति, धर्म सम्प्रदाय में कोई भेदभाव नहीं किया तथा समान रूप से क्षेत्र की आम जनता के लिए जन हितेषी विकास कार्य करवाए।

देवल ने कहा कि चूंकि हमारे क्षेत्र की एक बड़ी आबादी बाहर रहती है। क्षेत्र के विकास में प्रवासी बन्धुओं का अहम योगदान रहता है। इस बार भी चुनावों में आपको अपनी जिम्मेदारी निभानी है। अपने आस पास के ज्यादा से ज्यादा वोटरों को मतदान केंद्र तक पहुंचा कर भाजपा को विजयी बनाएं।

भाजपा रानीवाड़ा अध्यक्ष उकसिंह ने प्रवासियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि समस्त प्रवासी बन्धुओं का विधायक देवल व भाजपा के प्रति जो स्नेह एवं अपनत्व है उसे देखकर हमें पूरा विश्वास है कि पिछली बार 40 हजार वोटों से जीत हुई थी जो इस बार 60 से 70 हजार की होगी।

चुनाव में कडी मेहनत का समय है, इसमें समाज के हर वर्ग और खासकर युवाओं को मिलजुल कर काम करना होगा। सभी एकजुटता के साथ पार्टी हित में काम करेंगे तो विकास की गंगा बहाने वाली सरकार बनने से कोई नहीं रोक सकता।

कार्यक्रम में भाजपा जिला उपाध्यक्ष मिश्रीमल, भाजपा रानीवाड़ा मण्डल उपाध्यक्ष जैसाराम पुरोहित, रूपेश सोलंकी, हीरसिंह किबला, सुनील पुरोहित आमलरी, सुरेश पुरोहित कलापुरा, जितेंद्रसिंह रायथल, नरेंद्रसिंह पावटी, विकसा पावटी, पारसमल जोड़वाड़ा, बन्टूसिंह उचमत, दिलीपसिंह कागमाला, पहाड़सिंह ताविदर, दिनेश चारण, विक्रम चारण, देवीलाल आर, नरपत आर ओबातरी, राजेश चितरोड़ी, महेंद्र, जीतू, सहित सैकडों प्रवासी एवं समस्त समाजों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।