जितने बेटे उतनी ही बेटी पैदा करो : PM नरेन्द्र मोदी

PM Narendra Modi
PM Narendra Modi

SABGURU NEWS | झुंझूनू प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विकृत मानसिकता के कारण बच्चियों को मारने से समाज में पैदा हुए असंतुलन को दूर करने के लिए बेटी बचाने का राष्ट्रव्यापी अभियान शुरु करने का आह्वान करते हुए कहा कि जितने बेटे उतनी ही बेटी पैदा करों।

बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम काे संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि हमारे देश में विकृत मानसिकता के कारण बच्चियों को मारा गया जिससे समाज में असंतुलन पैदा हो गया तथा बेटियों की कमी हो गई। उन्होंने कहा कि जितने बेटे उतनी ही बेटियां पैदा करनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकारों को बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं अभियान काे आंदोलन के रुप में आगे बढ़ाना चाहिए। उन्होंने कहा कि एक समय था कि जब बेटियों को बोझ माना जाता था लेकिन अब बेटियां अंतरिक्ष तक के कार्यक्रमों में आगे आ गई है।

इस लड़के को मार मार के किया अधमरा कमज़ोर दिल वाले न देखे यह वीडियो

हरियाणा का जिक्र करते हुए  मोदी ने कहा कि दो साल पहले बेटियों की कमी के कारण काफी असंतुलन पैदा हो गया था लेकिन अब स्थिति में काफी सुधार हो गया है। उन्होंने कहा कि बेटियों की जन्म दर में वृद्धि से लोगों में एक नया विश्वास पैदा हुआ है।

मोदी ने राष्ट्रीय पोषण मिशन का शुभारंभ करते हुए कहा कि कुपोषण का एक कारण बाल विवाह भी है। जिसे भी रोका जाना चाहिए। खाने के साथ पानी भी स्वच्छ होना चाहिए। खाना खिलाने वाली महिला और खाने वाले बच्चे के हाथ भी साफ होने चाहिए। ऐसा करने से ही हम स्वस्थ रह सकते हैं।

उम्र के हिसाब से लम्बाई नहीं बढ़ने की समस्या का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि अक्सर यह देखा जाता है कि बच्चे ऊंचाई छूने के लिए लम्बे होना चाहते हैं लेकिन कुपोषण की वजह से उनमें यह बात नहीं होती। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि वर्ष 2022 तक उम्र के हिसाब से बच्चों की ऊंचाई तथा वजन हो और बच्चे स्वस्थ नजर आएं।

मोदी ने बच्चों के अंदाज में मिलकर बच्चियों को प्रसन्न किया

नौ हजार करोड़ की पोषण योजना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि कुपोषण मिटाने के लिए हर स्तर पर काम करना चाहिए। पारिस्थिकी तंत्र में भी सुधार जरूरी है। इसके अलावा बच्चों को समय पर टीका लगाने, पानी, दवा एवं भोजन की व्यवस्था होनी चाहिए।

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि धुएं के कारण परिवार के लोगों में बीमारियां फैल रही थीं जिसे बचाने के लिए शुरू की गयी इस योजना के तहत साढ़े तीन करोड़ मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन देकर लोगों को धुंए से मुक्त किया गया है। इस अवसर पर उन्होंने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की सफलता केे लिए दस जिला कलेक्टरों का सम्मान किया।

इस लड़की और लड़के को लोगो ने दोड़ा दोड़ा कर मारा || देखिये ये वीडियो