नर्मदा के नीर में बहेगी सिरोही-जालोर में भाजपा

congress leaders in neer narmada pad yatra in raniwada vidhansabha of jalore district

सबगुरु न्यूज-रानीवाडा। रानीवाडा से कांग्रेस के पूर्व विधायक रतन देवासी के आह्वान पर नीर नर्मदा पदयात्रा का दूसरा चरण शुक्रवार रात को सम्पन्न हो गया। दूसरे चरण की खासियत यह थी कि इसमें जालोर के साथ सिरोही कांग्रेस के कद्दावार नेता भी शामिल थे।

 

यह गठजोड आगामी विधानसभा चुनावों में दोनों जिलों की आठों विधानसभा सीटों पर भाजपा की नैया डुबो पाएगी या नहीं यह नवम्बर में तय होगा, लेकिन कांग्रेस के विपरीत धडों के नेताओं के इस तरह एक मंच पर आने और नीर नर्मदा पदयात्रा को मिल रहा अपार समर्थन यह इशारा जरूर कर रहा है कि आगामी विधानसभा चुनावों में नर्मदा का पानी जालोर-सिरोही की आठों विधानसभा सीटों पर भाजपा की नैया डुबोएगा।
रानीवाडा के पूर्व विधायक और विधानसभा में कांग्रेस के उप मुख्य सचेतक रतन देवासी ने गत महीने नीर नर्मदा पदयात्रा का प्रथम चरण शुरू किया था। उस दौरान इस यात्रा में 70 किलोमीटर की पैदल दूरी तय करके इस विधानसभा क्षेत्र में पडने वाले गांवों के लोगों ने उन्हें अपार समर्थन दिया।

जगह-जगह यात्रा का स्वागत हुआ। यात्रा का दूसरा चरण गुरुवार को शुरू किया गया, जो शुक्रवार देर रात को सम्पन्न हुआ। इस चरण में रतन देवासी के साथ सांचैर विधायक सुखराम विश्नोई, जालोर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष समरजीतसिंह, सिरोही के पूर्व विधायक संयम लोढा, प्रदेश कांग्रेस सचिव सोमेंद्र गुर्जर, प्रदेश सचिव जयंती विश्नाई समेत कांग्रेस के काफी लोग शामिल थे।

पैदल यात्रा के दौरान कांग्रेस नेताओं ने जगह-जगह ग्रामीणों को संबोधित किया। प्रदेश की वसुंधरा राजे सरकार पर पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कार्यकाल में स्वीकृत नर्मदा के डीआर प्रोजेक्ट को चार साल बीतने पर भी रानीवाडा विधानसभा समेत जालोर के अन्य इलाकों में नहीं ले जा पाने की नाकामी को उजागर किया।
-सेवाडा से शुरू हुआ दूसरा चरण
नीर नर्मदा पदयात्रा के दूसरे चरण की शुरूआत रानीवाडा विधानसभा की सेवाडा गांव से हुई। शुक्रवार रात को यह कुडा गांव में सम्पन्न हुई है। इसमें रानीवाड़ा क्षेत्र आठ-नौ पंचायतें कवर की गई हैं।
जसंवतपुरा होते हुए इसी प्रोजेक्ट को आना था सिरोही
नर्मदा जल का यह पानी जालोर जिले के बाद सिरोही में भी आना था। भाजपा नेताओं समेत स्वयं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी नर्मदा के पानी को सिरोही और पाली लाने का चुनावी वायदा 2013 और 2014 में किया था। इसके बाद वर्तमान वसुंधरा सरकार ही इससे मुकर गई।

जसवंतपुरा से कालन्द्री होते हुए इसी डीआर प्रोजेक्ट के माध्यम से नर्मदा के नीर को सिरोही लाया जाना थां। अब जालोर में भाजपा के वर्तमान विधायकों के साथ सिरोही में भी सांसद देवजी पटेल और गोपालन राज्यमंत्री व सिरोही विधायक ओटाराम देवासी को आगामी विधानसभा चुनावों में नर्मदा के पानी को लेकर घेरने की तैयारी कांग्रेस कर रही है।