अरुण जेटली के निधन पर शोकाकुल देश

The country mourns the death of Arun Jaitley
The country mourns the death of Arun Jaitley

नयी दिल्ली | राष्ट्रपति रामनाथ काेविंद, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत विभिन्न दलाें के नेताओं ने भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरुण जेटली के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए इसे देश के लिए अपूरणीय क्षति बताया है।

कोविंद ने जेटली के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा, ‘अरुण जेटली के देहावसान से मुझे गहरा दुख हुआ है। उन्होंने दृढ़ता और गरिमा से अपनी बीमारी का सामना किया। एक प्रखर वकील, अनुभवी सांसद और उत्कृष्ट मंत्री के रूप में उन्होंने राष्ट्र निर्माण में अमूल्य योगदान दिया।उनके परिवार और सहयोगियों के प्रति मेरी गहन शोक संवेदनाएं।’

नायडू ने पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री के निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए इसे देश के लिए अपूरणीय क्षति बताया है।

नायडू ने अपने शोक संदेश में कहा, “ जेटली का निधन देश और मेरे लिए अपूरणीय क्षति है। मेरे पास संवेदना व्यक्त करने के लिए शब्द नहीं हैं।”

नायडू हैदराबाद के दौरे पर थे और वह अपनी यात्रा स्थगित कर दिल्ली के लिए रवाना हो गये।

मोदी ने अपने शोक संदेश में कहा कि जेटली के निधन से उन्होंने अपना दोस्त और राजनीति का दिग्गज खोया है। उनकी हर मुद्दों की गहरी समझ थी। भाजपा और जेटली में अटूट संबंध था। वह हम सभी को असंख्य दुखद यादों के साथ छोड़कर चले गये। उन्होंने कई बड़ी जिम्मेदारी निभाई।

मोदी इन दिनों विदेश यात्रा पर हैं। उन्होंने जेटली की पत्नी और पुत्र से फोन पर बात की और उन्हें सांत्वना दी। जेटली के परिवार ने प्रधानमंत्री से विदेश यात्रा जारी रखने का अनुरोध किया ।

शाह ने कहा कि जेटली के निधन से पार्टी ने संगठन का एक बड़ा नेता और परिवार का अभिन्न सदस्य खोया है ।

उन्होंने कहा, “ मैं अरुण जेटली जी के निधन से अत्यंत दुःखी हूँ, जेटली जी का जाना मेरे लिये एक व्यक्तिगत क्षति है।”

गांधी ने अपने शोक संदेश में कहा,“जेटली ने सांसद एवं मंत्री के रूप में लंबी पारी खेली और सार्वजनिक जीवन में उनके योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा।”

भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि जेटली भाजपा के लिए एक संकटमोचक थे।