राहुल गांधी को महिला आयोग का नोटिस

National Commission for Women issues notice to Rahul Gandhi

नई दिल्ली। राष्ट्रीय महिला आयोग ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बुधवार को की गई एक टिप्पणी के संबंद्ध में उन्हें नोटिस जारी किया है।

आयोग ने आज गांधी को नोटिस जारी करते हुए कहा कि विषय की गंभीरता को देखते हुए आप आयोग के समक्ष संतोषजनक स्पष्टीकरण दें। उसने गांधी की टिप्पणी को बेहद महिला विरोधी, अपमानजनक तथा अनैतिक बताया है।

गांधी ने बुधवार को राजस्थान की राजधानी जयपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने 56 इंच के सीने के साथ एक बार भी जनता की अदालत यानी संसद में नहीं आए। हमने रक्षा मंत्री के बयान की धज्जियां उड़ा दीं। छप्पन इंच का सीना वाले प्रधानमंत्री ने एक महिला से कहा ‘मेरी रक्षा कीजिए’।

गांधी के बयान की कई केंद्रीय मंत्रियों तथा भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने कड़ी आलोचना की है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि रक्षा मंत्रालय से जुड़े एक मामले पर चर्चा के दौरान रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के जवाब के संदर्भ में राहुल गांधी ने जो बयान दिया है, भारतीय राजनीति के इतिहास में अब तक कोई इतने निचले स्तर तक नहीं गया है।

कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने लिखा कि राहुलजी के अहम को चोट इतनी पहुंची की संयम खो बैठे। आख़िर एक सामान्य महिला की हिम्मत कैसे हुई राहुल को ललकारने की?

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने एक ट्वीट कर कहा कि राहुल के महिला विरोधी बयान का क्या मतलब है? एक महिला से कहा मेरी रक्षा कीजिए। क्या उनकी समझ में महिलाएं कमजोर हैं। विडंबना यह है कि वह दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की निपुण रक्षा मंत्री को कमजोर कह रहे हैं।